निवेश के बिना विकास संभव नहीं  - वसुंधरा राजे

  • 2015-05-02 09:48:39.0
  • उगता भारत ब्यूरो

vasundhra rajey jpgझालावाड़ में कॉटन यार्न प्रोजेक्ट का हुआ भूमि पूजन 


नई दिल्ली, 1 मई, 2015। राजस्थान की मुख्यमंत्री श्रीमती वसुन्धरा राजे ने कहा है कि प्रदेश का विकास करना है तो हमें निवेश लाना ही होगा। उन्होंने कहा कि 60 साल तक इस ओर कोई ध्यान नहीं दिया गया जबकि पूरी दुनिया मानती है कि जब तक निवेश नहीं आयेगा, तब तक किसी भी देश और प्रदेश का सर्वांगीण विकास संभव नहीं है। निवेश आने से ही लोगों को रोजगार मिलेगा और प्रदेश की इकॉनोमी भी बढ़ेगी।

श्रीमती राजे शुक्रवार को झालावाड़ में वल्लभ पिŸाी समूह के ’कॉटन यार्न प्रोजेक्ट‘ के भूमि पूजन के बाद विशाल आमसभा को सम्बोधित कर रही थीं। उन्होंने कहा कि विकास के लिए शिक्षा जितनी जरूरी है, उतना ही निवेश भी आवश्यक है। क्योंकि निवेश आयेगा तब ही हमारे पढ़े-लिखे और शिक्षित युवाओं को रोजगार मिलेगा।

जनता को फूल की तरह संभाले रखें

मुख्यमंत्री श्रीमती राजे ने कहा कि हमने 15 लाख युवाओं को रोजगार देने का जो वादा किया था, उसे हम अवश्य पूरा करेंगे। अब तक हमने करीब पौने दो लाख युवाओं को निजी एवं सरकारी क्षेत्र में नौकरियां दे दी हैं। श्रीमती राजे ने अधिकारियों एवं राज्य में आने वाले निवेशकों से कहा कि वे यहां की जनता को फूल की तरह रखें, वो भी मेहनत करने में अपनी ओर से कोई कमी नहीं रखेगी।

रेवेन्यू कैम्प 11 मई से

श्रीमती राजे ने कहा कि सुराज संकल्प यात्रा के दौरान मुझे बिजली, पानी, सड़क, डॉक्टर, टीचर और रोजगार के साथ-साथ राजस्व सम्बन्धी लम्बित मामलों की शिकायतें मिलीं थीं। उसी वक्त हमने सोच लिया था कि सरकार आने पर हमारा इन समस्याओं के समाधान पर विशेष ध्यान रहेगा। हमारी सरकार ने अपनी घोषणा के मुताबिक आने वाली 11 मई से प्रदेश में रेवेन्यू कैम्प शुरू करने का निर्णय लिया है। यह कैम्प ग्राम पंचायत मुख्यालय पर लगेंगे, यहां राजस्व सम्बन्धी मामले आपसी समझाइश से निपटाये जायेंगे। उन्होंने कहा कि राज्य में पंचायतों के साथ मिलकर हैल्थ कैम्प भी लगाये जायेंगे।

रिवर बेसिन ऑथोरिटरी चैयरमेन की नियुक्ति शीघ्र

मुख्यमंत्री ने कहा कि रिवर बेसिन ऑथोरिटी चैयरमेन की नियुक्ति एक-दो दिन में ही हो जायेगी, जिससे नदियों को जोड़ने की हमारी योजना को और गति मिलेगी।

किसानों को दिया बढ़ा हुआ राहत पैकेज

श्रीमती राजे ने कहा कि जिन लोगों ने 60 साल में कुछ नहीं किया, वे हमसे पूछ रहे हैं कि हमने डेढ़ साल में क्या किया। हमें जनता ने पांच साल के लिए चुना है, हम पांच साल में जनता की अपेक्षाओं पर निश्चित रूप से खरा उतरेंगे। हमारी सरकार ने वर्ष 2005 में प्राकृतिक आपदा से प्रभावित किसानों को नियमों से परे हटकर जो राहत पैकेज दिया था, उससे पहले इतनी राहत कभी नहीं मिली। वर्ष 2008 एवं 2013 के बीच पूर्ववर्ती सरकार ने हमारे उस राहत पैकेज में कोई वृद्धि नहीं की। इस बार भी हमने नियमों से परे हटकर प्रभावित काश्तकारों को राहत पैकेज दिया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री ने भी हमारी मांग को मानते हुए किसानों को 50 प्रतिशत के स्थान पर 33 प्रतिशत से अधिक फसल खराबे पर राहत देने का निर्णय लिया, साथ ही राहत राशि भी डेढ़ गुना कर दी। हमारी सरकार चाहती है कि किसान मजबूत हो, इसके बावजूद भी ये लोग इस पर राजनीति कर रहे हैं। पूर्ववर्ती सरकार की गलत नीतियों के कारण हमें दो लाख दस हजार करोड़ का कर्जा विरासत में मिला है।

श्रीमती राजे ने कहा कि नेपाल भूकम्प त्रासदी ने वहां की जनता के सहयोग एवं सहायता के लिए राज्य ने दो टीमें भेजी है। एक टीम काठमाण्डू एवं दूसरी टीम गोरखपुर गई है। नेपाल में रहने वाले हमारे प्रदेशवासियों के साथ वहां के नागरिकों की हर संभव सहायता की जा रही है।

रिसर्जेंट राजस्थान से आयेगा निवेश

मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारी सरकार ने वर्ष 2007 में रिसर्जेंट राजस्थान का आयोजन किया था, जिसमें 40 हजार करोड़ का निवेश जमीन पर लाये थे। उस समय जापान व कोरिया से निवेश आया था। इस बार भी जापान व कोरिया हमारे प्रदेश में निवेश करना चाहते हैं, क्योंकि हमने यहां निवेश का वातावरण बनाया है।

श्रीमती राजे ने कहा कि वो जापान जाकर आईं हैं, अब यूके भी जाकर वहां के निवेशकों को आमंत्रित करेंगे। राजस्थान में देश-विदेश का पैसा आयेगा तो राज्य की इकॉनोमी बढ़ेगी। इससे किसान नौजवान व महिलाओं को लाभ होगा। इस निवेश का आगामी तीन वर्षों में असर दिखाई देगा। सब काम एक साल में नहीं हो सकते, लेकिन पांच सालों में जरूर होंगे।

प्रदेशवासियों को श्रम दिवस की बधाई देते हुए मुख्यमंत्री ने जनता का आह्वान किया कि वे प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के श्रम शक्ति अभियान को सफल बनायें।

इस अवसर पर सांसद श्री दुष्यंत सिंह ने भी आमसभा को सम्बोधित किया। कार्यक्रम में कृषि मंत्री श्री प्रभुलाल सैनी सहित कई जनप्रतिनिधि भी उपस्थित थे।

श्रीमती राजे डायनिमिक नेता

श्री वल्लभ पिŸाी समूह के चैयरमेन श्री विनोद पिŸाी ने इस अवसर पर कहा कि मैंने यूएसए में मुख्यमंत्री श्रीमती वसुन्धरा राजे का एक साक्षात्कार देखा था, जिसमें मुख्यमंत्री ने कहा था कि ‘‘जो मैं कहती हूं, वो मैं करती हूं।’’ इस वाक्य से प्रभावित होकर मैंने झालावाड़ में यह कॉटन यार्न प्रोजेक्ट लगाने का फैसला लिया। उन्होंने कहा कि सीएम का विजन एवं सोच बड़ी है। वो राजस्थान के लिए कुछ करना चाहती हैं। श्रीमती राजे डायनिमिक नेता हैं।