अपराध नियंत्रण के बिना जिले का विकास सम्भव नहीं

  • 2015-05-01 02:49:02.0
  • उगता भारत ब्यूरो
अपराध नियंत्रण के बिना जिले का विकास सम्भव नहीं

नोएडा। जनहित मोर्चा ने गुरूवार को गौतमबुद्धनगर की बिगड़ती कानून व्यवस्था को लेकर एसएसपी से मुलाकात कर एक पत्र दिया है। जनहित मोर्चा के संरक्षक नवाब सिंह नागर ने वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक से कहा कि जिले में सरेआम लूटें, वाहन चोरी एंव चेन स्नेचिंगं एवं मर्डर की घटनाओं से जनता के मन में भय व्याप्त हो गया है। जिले के लोग अपराधियों की बढ़ती गतिविधियों के चलते अपने आप को सुरक्षित महसस नहीं कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि अपराध नियंत्रण के बिना जिले का विकास सम्भव नही है।


दादरी में तीन दन पूर्व तहसील के अंदर सरकारी पैसे की लूट, उससे पहले दादरी में पैट्रोल पंपों से नगदी की लूट, अंकित चैहान की हत्या, जनहित मोर्चा के प्रतिनिधि मंडल ने एसएसपी को बताया कि 13 अप्रैल की रात को थाना 24 के अंतर्गत पूर्व मंत्री नवाब सिंह नागर के आवास सेक्टर 33 से कार चोरी एंव सेक्टर 33 के मल्होत्रा के मकान से कार चोरी, पिछले सप्ताह हरीश चंद्र भाटी की गाड़ी से दिन के पांच बजे कासान के बाजार से बैग उड़ाने की घटना, इसके अलावा नोएडा एंव गेटर नोएडा में महिलाओं से चेन स्नेचिंग एंव लूट की हो रही घटनाओं से जन मानस में भय का आलम बना हुआ है। ग्रेटर नोएडा में गुंडागर्दी की घटनाओं से विकास नहीं हो पा रहा है। ग्रेटर नोएडा में प्राधिकरण के औद्योगिक भूखंडों को प्राधिकरण की दर से आधे रेट में खुले मार्केट में कोई लेने के तैयार नहीं है। आवासीय सेक्टरों में भी अधिकांश मकान एंव हजारों फ्लैट खाली पडे हैं लोग यहां आने को तैयार नहीं है। ग्रेटर नोएडा में नशे की ड्रग्स आदि के गिरोह द्वारा बिक्री से नई युवा पीढ़ी बरबाद हो रही है। अवैध बालू खनन एंव अवैध वसूली बड़े पैमाने पर जारी है।


मोर्चा के वरिष्ठ सदस्यों में उदयवीर सिंह यादव, अमित त्यागी, दीपक बिग, मनोज कटारिया, सुनील नागर, एमपी गुप्ता, सुनील भाटी, सुनील चावड़ा, राजे कसाना, बीएस रावत, पन्ना लाल यादव ने कहा कि कानून व्यवस्था में सुधार न होने पर जन अक्रेाष को व्यक्त करने के लिये जनहित मोर्च विरोध प्रदर्शन के लिये मजबूर होगा। एसएसपी से मांग की है कि आपराधिक घटनाओं के लिए संबंधित थाना एंव पुलिस चैकी इंचार्ज की जवाबदेही होनी चाहिए, इसके अलावा प्रत्येक सेक्टर एंव गांवों से सूचनाओं के आदान प्रदान हेतु दो-दो इच्छुक एंव अनुभवी लोगों को संबंधित थाने से जोड़ना चाहिए, प्राधिकरणों की सहायता से सीसीटीवी कैमरों की व्यवस्था की जानी चाहिए जिससे रात को खुले रहने वाले गेटों पर लगाए जाए हैं। इस मौके पर मनीष गुप्ता, दिनेश यादव, अजय भाटी, अशोक शर्मा, रविन्द्र चैहान, ओपी शर्मा, तरूण शर्मा, योगराज सिंह, सतेन्द्र कसाना, सुखवीर सिंह, रमेश चन्द्र, आदि मौजूद रहे।