मुख्यमंत्री की केन्द्रीय सड़क परिवहन एवं राष्ट्रीय राजमार्ग मंत्री से मुलाकात

  • 2015-04-18 05:13:19.0
  • उगता भारत ब्यूरो

vasundhra rajey jpgराष्ट्रीय राजमार्गों के संधारण के लिए पर्याप्त धनराशि का आवंटन हो


- वसुंधरा राजे


     नई दिल्ली, 17 अप्रेल, 2015। राजस्थान की मुख्यमंत्री श्रीमती वसुन्धरा राजे ने प्रदेश से गुजरने वाले राष्ट्रीय राजमार्गों की सड़काें के संधारण के लिए केन्द्र सरकार से पर्याप्त धनराशि उपलब्घ करवाने का आग्रह किया है।


     श्रीमती राजे ने नई दिल्ली में केन्द्रीय सड़क परिवहन एवं राष्ट्रीय राजमार्ग मंत्री श्री नितिन गडकरी से मुलाकात की। उन्होंने बताया कि प्रदेश में राष्ट्रीय राजमार्ग की सड़कों की स्थिति ठीक नहीं है। जिसके कारण इन मार्गों पर निर्बाध आवागमन में सभी को असुविधा हो रही है। श्रीमती राजे ने वर्ष 2015-16 के लिए इस मद में अधिक धनराशि आवंटित करवाने का आग्रह किया और बताया कि वर्ष 2014-15 में 75 करोड़ रुपये की मांग के विरुद्ध केवल 14.87 करोड़ रुपये का बजट ही आवंटित किया गया था।


     मुख्यमंत्री ने श्री गडकरी के समक्ष राष्ट्रीय राजमार्ग (एन.एच.) की उन सड़कों की मरम्मत का मामला भी उठाया, जिस पर राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण द्वारा सड़कों के संधारण का कार्य नहीं किया जा रहा है और राज्य सरकार अपने संसाधनों से उनकी मरम्मत करवा रही है। उन्होंने आग्रह किया कि इन मार्गों के संधारण पर राज्य सरकार द्वारा किए गये व्यय का पुनर्भरण करवाया जाना चाहिए।


     श्रीमती राजे ने बताया कि उनियारा-नैनवां-गुलाबपुरा-शाहपुरा (एन.एच. 148डी), ऊॅचा नंगला-धौलपुर (एन.एच. 132), मनोहरपुर-दौसा-लालसोट (एन.एच. 11ए एवं विस्तार) आदि ऎसे सेक्शन है जिन पर राज्य सरकार ने अपने संसाधनों से सड़क मरम्मत के कार्य करवाये हैं।


     मुख्यमंत्री ने केन्द्रीय मंत्री से कोटा-दर्रा सेक्शन पर 621.43 करोड़ रुपये की लागत से फोरलेन सड़क बनाने की परियोजना को शीघ्र मंजूरी प्रदाने करने का भी अनुरोध किया।


     श्रीमती राजे ने वर्ष 2014-15 में राजस्थान के लिए राष्ट्रीय राजमार्गों से सम्बंधित 1558.07 करोड़ रुपये के नये कार्य स्वीकृत करने के लिए केन्द्र सरकार का आभार व्यक्त किया।