डीएनडी कार्यालय का घेराव, घंटों किया टोल फ्री

  • 2015-04-16 04:57:50.0
  • उगता भारत ब्यूरो

dnd2नोएडा। जनहित मोर्चा द्वारा तमाम समाजिक संगठनों के साथ संरक्षक एवं पूर्व मंत्री नवाब सिंह नागर के नेतृत्व में डीएनडी फ्लाई ओवर पर शांति पूर्ण ढंग से प्रदर्शन कर टोल फ्री की मांग को लेकर जनाक्रोष व्यक्त किया गया। सुबह से देर दोपहर तक डीएनडी को टोल टैक्स से मुक्त कराया गया। मौजूदा संगठनों के पदाधिकारियों ने मोर्चा के अध्यक्ष अनिल गुप्ता एवं अमित पहलवान के नेतृत्व में डीएनडी कार्यालय का घेराव किया। कार्यालय के अधिकारियों ने एक माह का समय मांगते हुए डीएनडी बोर्ड में समस्या रख कर समाधान कराने का आश्वासन दिया है। सभी मौजूद लोगों ने एक माह का अल्टीमेटम देते हुए कहा कि एक माह के भीतर डीएनडी टोल फ्री नहीं हुआ तो मोर्चा द्वारा फिर से बड़ा और अनिश्चित कालीन आन्दोलन किया जायेगा। प्रदर्शन सभा के दौरान तमाम वक्ताओं ने निर्धारित समय सीमा के भीतर निश्पक्ष जांच की मांग कर दोषियों को जेल भेजने की मांग की है। विरोध प्रदर्शन के मौके पर क्षेत्रीय विधायक विमला वाथम ने कहा कि डीएनडी की लूट के खिलाफ क्षेत्र के लोग निर्णायक लड़ाई का मन बना चुके है। परिणम निकलने तक जंग जारी रहेगी।


विरोध प्रदर्शन के मौके पर पूर्व विधायक कृष्णवीर सिरोही, एनईए अध्यक्ष विपिन मल्हन, मौलिक भारत के कै. विकास गुप्ता, राष्ट्रीय युवा लोक मंच से बृज भूषण गर्ग, क्राईम फ्री इण्डिया फोर्स के मृत्यंजय सिंह, ओम प्रकाश सिंह, हिन्दू युवा वाहिनी के चैनपाल प्रधान, चमन अवाना, राष्ट्रीय लोकाधिकार संगठन के वामा सैनी, पूर्व सैनिक प्रकोष्ठ के कर्नल योगी सिंह, त्यागी युवा संघ के प्रदीप त्यागी, छात्र संघ के अध्यक्ष सोनू नागर, कुलदीप नागर, महिला संघ की उषा ठाकुर, भारतीय मिथला सहयोग समिति के जितेन्द्र पाठक, पश्चिम प्रदेश निर्माण मोर्चा के कर्नल सुधीर कुमार, व्यापारी वैलफेयर एसोसिएशन के ओमवीर अवाना, मानव सेवा समिति के यूके भारद्वाज, जगवीर खटाना, शनि सेवा समिति के अजीत नागर, प्रकृति एवं पर्यावरण संदेश के संजय शर्मा, किसाना संघर्ष समिति के बलराज भाटी, तमाम सैक्टरों की आरडब्लूए एवं ग्रामीण संगठनों के साथ- साथ मनवीर नागर, सुनील छावड़ा, दीपक विग, सुनील भाटी, राजे कसाना, सुनील नागर, अमित त्यागी, बृजपाल चैहान, दिनेश डिमरी, महेश चैहान, सतपाल यादव, रमेश गोयल, राकेश राघव, विनोद त्यागी, रवि अवाना, डिंपल आनंद आदि भारी संख्या में कार्यकर्ता एवं पदाधिकारी मौजूद रहे।