विक्रमी संवत् 2072 के स्वागतार्थ विहिप की व्यापक तैयारियाँ

  • 2015-03-21 02:15:25.0
  • उगता भारत ब्यूरो
विक्रमी संवत् 2072 के स्वागतार्थ विहिप की व्यापक तैयारियाँ

सप्ताह भर तक दिल्ली में हवन, दीप दान, तिलक यज्ञ, प्रभात फ़ेरियाँ व सांस्कृतिक कार्यक्रमों की रहेगी धूम    

नई दिल्ली मार्च 20, 2015। भारतीय नव वर्ष विक्रमी संवत 2072 के स्वागतार्थ विश्व हिंदू परिषद्, बजरंग दल, दुर्गावाहिनी व मातृशक्ति सहित अनेक धार्मिक, सामाजिक व सांस्कृतिक संगठनों ने आज दिल्ली के हर कोने में अनेक प्रकार के कार्यक्रमों की योजना बनाई है। नव वर्ष की प्रतिपदा (21.3.15) की पूर्व संध्या से प्रारम्भ होकर सप्ताह भर चलनेवाले इन कार्यक्रमों की श्रंखला में दिल्ली में कहीं हवन तो कहीं दीप दान, कहीं तिलक यज्ञ तो कहीं प्रभात फ़ेरियाँ, तथा कहीं सांस्कृतिक कार्यक्रम तो कहीं सत्संगों व भजन संध्या की धूम रहेगी। विहिप के प्रांत महामंत्री श्री कृष्ण श्रीवास्तव ने आज एक बैठक के बाद विक्रमी संवत् की प्रतिपदा पर देशवासियों को बधाई देते हुए जहां समस्त हिंदू समाज के सर्वांगीण उन्नति की कामना की है वहीँ समस्त राजधानी वासियों से इस पावन पर्व को धूम धाम मनाने का आह्वान भी किया है।


बैठक की विस्तृत जानकारी देते हुए विहिप दिल्ली के प्रवक्ता श्री विनोद बंसल ने बताया कि हर वर्ष की भांति इस वार भी नव वर्ष की तैयारियां की गईं हैं किन्तु विश्व हिन्दू परिषद की स्वर्ण जयंती वर्ष के कारण इन कार्यक्रमों को और अधिक व्यापक और भव्य किया जाएगा. सप्ताह भर तक चलने वाले कार्यक्रमों का श्री गणेश आज सायं छह बजे दक्षिणी-पश्चिमी दिल्ली के रघुवीर नगर स्थित विहिप संचालित हनुमान संस्कृत महा विद्यालय के छात्रों ने नव वर्ष की पूर्व संध्या पर रंगारंग कार्यक्रम आयोजित कर किया. इसमें विहिप के अंतर्राष्ट्रीय उपाध्यक्ष श्री ओम  सिंहल उपस्थित थे. कल प्रात: काल दक्षिणी दिल्ली के संत नगर स्थित आर्य समाज मंदिर सहित राजधानी के अनेक स्थानों पर वेद मंत्रों के माध्यम से यज्ञ में आहुति देकर वर्ष प्रतिपदा, श्रष्टि का आरम्भ दिवस, आर्य समाज स्थापना दिवस तथा अनेक महा पुरुषों का जन्मोत्सव भी मनाया जाएगा। वरिष्ठ नागरिकों का सम्मान, महिलाओं सत्कार, युवाओं में संस्कारों का विकास तथा राष्ट्र भाव जगाने वाले अनेक कार्यक्रम सप्ताह भर तक चलेंगे. 21 से 28 मार्च तक दिल्ली के कोने कोने में लगभग 151 स्थानों पर श्री राम महोत्सव के कार्यक्रम भी आयोजित किए जाएंगे जिनका समापन राम नवमी (28.3.15) को श्री राम नवमी की विशाल शोभा यात्रा से होगा.