मुख्यमंत्राी श्रीमती वसुंधरा राजे ने रखा है हर वर्ग का ख्याल

  • 2015-03-11 03:37:39.0
  • उगता भारत ब्यूरो
मुख्यमंत्राी श्रीमती वसुंधरा राजे ने रखा है हर वर्ग का ख्याल

राजस्थान के सांसदों ने किया राजस्थान बजट का स्वागत



                नई दिल्ली, 10 मार्च, 2015। राजस्थान की मुख्यमंत्राी श्रीमती वसुंधरा राजे द्वारा राजस्थान विधानसभा में पेश किये गये वर्ष 2015-16 के बजट का राजस्थान के सांसदों ने स्वागत किया हैं। सांसदों ने कहा कि यह बजट राजस्थान को विकास के एक नए युग में ले जायेगा। उन्होंने कहा कि बजट में समाज के हर वर्ग के विकास का ख्याल रखा गया है। साथ ही बजट बहुत संतुलित, विकासोन्मुख एवं प्रगतिशील सोच वाला है।


                सांसदों ने राजस्थान में पर्यटन, कला एवं संस्कृति के संरक्षण को लेकर बजट में किए गए प्रावधानों एवं प्रस्तावों की सराहना करते हुए कहा कि राजस्थान देश एवं दुनिया में अपनी अनूठी कला एवं संस्कृति तथा विरासत के लिए जाना जाता है तथा अपनी इसी खासियत का भरपूर दौहन करके राजस्थान वैश्विक पर्यटन का हब बन सकता है। राजस्थान में पर्यटन के विकास को ध्यान में रखते हुए बजट में काफी महत्वपूर्ण एवं स्वागत योग्य कदम उठाऐ गए है।


                केन्द्रीय जल संसाधन राज्यमंत्राी श्री सांवर लाल जाट, केन्द्रीय रसायन एवं उर्वरक राज्य मंत्राी श्री निहाल चंद एवं केन्द्रीय सूचना एवं प्रसारण राज्यमंत्राी श्री राज्यवर्द्धन सिंह राठौर के साथ ही सांसद श्री भूपेंद्र यादव, श्री दुष्यंत सिंह, श्री वी.पी. सिंह, श्री विजय गोयल, श्री अर्जुन राम मेघवाल, श्री ओम बिरला, श्री रामनारायण डूडी, कर्नल सोना राम, श्री देवजी पटेल, महंत श्री चांदनाथ, श्री मानशंकर निनामा, श्री बहादुर सिंह कोली, श्री सुभाष बहेडिया, श्री चंद्र प्रकाश जोशी, श्री राहुल कस्वां, श्री हरीश चंद्र मीना, श्री रामचरण बोहरा, श्रीमती संतोष अहलावत, श्री गजेन्द्र सिंह शेखावत, डॉ. मनोज राजोरिया, श्री सी.आर. चौधरी, श्री पी.पी चौधरी, श्री हरिओम सिंह राठौड, श्री सुमेधानन्द सरस्वती, श्री सुखबीर सिंह जौनपुरिया, श्री अर्जुन लाल मीणा, श्री नारायण लाल पंचारिया ने श्रीमती राजे द्वारा पेश किये गये बजट को राजस्थान के विकास का पर्याय बताया है।


                सांसदों ने जनता पर केन्द्रित इस बजट को राजधर्म वाला बजट बताते हुए कहा कि इसमें राजस्थान के ‘विकास का रोडमैप’ अंर्तनिहित है। उन्होंने कहा कि यह प्रदेश की माली हालत को सुधारने एवं राज्य को घाटे से उबारने वाला बजट है। उन्होंने बजट में शामिल की गई ‘मुख्यमंत्राी जन आवास योजना’, सांसद आदर्श ग्राम योजना की तर्ज पर ‘मुख्यमंत्राी आदर्श ग्राम योजना’ का स्वागत किया।


                सांसदो ने कहा कि बजट में मुख्यमंत्राी श्रीमती राजे की दूरदृष्टि, विकास के प्रति उनके सकारात्मक विजन एवं मौलिक सोच का दिग्दर्शन हा रहा है। उन्होंने आशा व्यक्त की कि राजस्थान में औद्योगिक विकास के लिए किए जा रहे प्रयास एवं निवेश आकर्षित करने के लिए आगामी नवम्बर माह में ‘रिसर्जेंट राजस्थान’ का आयोजन प्रदेश के ‘विकास में मील का पत्थर’ साबित होगा। राजस्थान निवेश प्रोत्साहन योजना-2014 और बजट में शामिल कर प्रस्तावों से एक ओर जहां राज्य के विश्व प्रसिद्ध पर्यटन उद्योग के साथ ही कोटा स्टोन, मार्बल, ग्रेनाईट पत्थर से संबंधित व्यवसाय को लाभ मिलेगा, वहीं दूसरी ओर आम लोगों की रोजमर्रा की जरूरतों और अन्य वस्तुओं एवं सेवाओं के सस्ता होने से राहत मिल सकेगी।


                सांसदों ने बजट में महिलाओं, युवाओं, किसानों, पशुपालकों, अल्पसंख्यकों, राज्य कर्मचारियों, पत्राकारों, व्यापार एवं उद्योग से जुडे़ लोगो के लिए की गई बजट घोषणाओं का तहे दिल से स्वागत किया। साथ ही सड़क, सड़क परिवहन, हवाई परिवहन, पेयजल, उर्जा, पर्यटन कला एवं संस्कृति, देवस्थान, वन, उद्योग, लघु उद्योग, खनन, कृषि एवं पशुपालन, डेयरी, मानव संसाधन एवं सामाजिक विकास, युवा मामले एवं खेल, शिक्षा, उच्च शिक्षा, तकनीकी शिक्षा, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य, चिकित्सा शिक्षा, खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति, एवं उपभोक्ता मामले, श्रम, कौशल विकास एवं रोजगार, शहरी विकास, ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज, सूचना प्रौद्योगिकी, राजस्व, पंजीयक एवं मुद्रांक, गृह एवं न्याय प्रशासन, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी, सूचना एवं जनसम्पर्क, सैनिक कल्याण, प्रशासनिक सुधार, कर्मचारी कल्याण आदि क्षेत्रों में किए गए बजट प्रस्तावों को राज्य के सर्वांगीण विकास की दिशा में सकारात्मक पहल बताया है और भामाशाह एवं कौशल विकास जैसे महत्वाकांक्षी कार्यक्रमों की प्रशंसा की है।