राजस्थान के सांसदों ने आम बजट का स्वागत किया

  • 2015-03-02 05:02:21.0
  • उगता भारत ब्यूरो
राजस्थान के सांसदों ने आम बजट का स्वागत किया

     नई दिल्ली, 01 मार्च, 2015।  राजस्थान के सांसदगणों ने केन्द्रीय वित्त मंत्री श्री अरूण जेटली द्वारा लोकसभा में वर्ष 2015-16 के लिए प्रस्तुत किये गये केन्द्रीय वित्त बजट की सराहना करते हुए इसे प्रगतिशील एवं विकासोन्मुख बजट बताया है तथा सांसदों ने कहा कि इस बजट में केन्द्र सरकार द्वारा विकास प्रतिबद्धताओं को पुरा करने का प्रयास किया गया है। इससे देश में तीवर््र आर्थिक विकास एवं रोजगार सृजन का युग प्रारम्भ होगा।


     सांसदों ने बजट में राजस्थान सहित अन्य प्रदेशों में नेशनल इंट्स्टूट्युट ऑफ फार्मास्युटिकल एजुकेशन एण्ड रिसर्च (राष्ट्रीय भेषज शिक्षा एवं अनुसंधान संस्थान) स्थापित करने और राजस्थान में पर्यटन को बढ़ावा देने एवं ऎतिहासिक धरोहरों के संरक्षण के लिए राज्य के कुम्भलगढ़ किला सहित अन्य पहाड़ी किलों के जिर्णाद्वार, भूदृश्य बहाली, संकेत तथा भाषान्तर सुविधाएं, सुरक्षा और शौचालयों सहित आगन्तुंको हेतु सुख-सुविधाएं तथा प्रकाशीकरण एवं उसके आसपास रहने वाले व्यक्तियों को लाभान्वित करने वाली योजनाओं के बेहतर प्रबंधन के लिए कार्य शुरू करने की घोषणा के लिए केन्द्रीय मंत्री का आभार व्यक्त किया है।


     सांसद  श्री राम चरण बोहरा, श्री दुष्यंत सिंह, श्री मनोज राजोरिया, श्री अर्जुन राम मेघवाल, श्री ओम बिरला, कर्नल सोना राम,  श्री बहादुर सिंह कोली, श्री अर्जुन लाल मीणा,श्री सी.आर. चौधरी, श्री मंहत चांदनाथ, श्री चन्द्र प्रकाश जोशी, श्री गजेन्द्र सिंह शेखावत, श्री हरिओम सिंह राठौड़, श्री हरीश चंद्र मीना, श्री पी.पी. चौधरी,  श्री सुखवीर सिंह जौनपुरिया,स्वामी श्री सुमेधानन्द सरस्वती, श्रीमती संतोष अहलावत,  श्री सुभाष बहेड़िया, श्री मानशंकर निनामा, श्री देवजी पटेल, श्री राहुल कस्वां के साथ ही राज्यसभा के सांसद श्री नारायण लाल पंचारिया, श्री भूपेन्द्र यादव, श्री रामनारायण डूडी, श्री विजय गोयल और श्री वी.पी. सिंह ने भी केन्द्रीय वित्तमंत्री श्री अरूण जेटली को बधाई दी और बजट में संरचना विकास,सामाजिक सुरक्षा, स्वास्थ्य, शिक्षा, षि एवं उद्योग क्षेतर्् में गुणात्मक परिवर्तन लाने के लिए किये गये प्रावधानों की सराहना की।


     सांसदों ने बुंद बुंद अधिक फसल हेतु ‘‘प्रधानमंत्री ग्राम सिंचाई योजना’’ के तहत् किसानों की जलघर दक्षता में सुधार लाने के प्रस्ताव तथा सुक्ष्म सिंचाई, जलस्तर विकास और ‘‘प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना’’ के लिए 5,300 करोड़ का आवंटन करने, नवीकरणीय ऊर्जा क्षमता को 2022 तक बढ़ाकर 1 लाख 75 हजार मेगावाट करने, दो हजार बीस तक ऑफ-ग्रीड सौर ऊर्जा से ग्रामों के विद्युतीकरण, दिल्ली मुम्बई औद्योगिक कोरिडोर जिसका अधिकांश हिस्सा राजस्थान से गुजरता है इसके लिए बजट में 1200 करोड़ रूपये का प्रावधान, सड़कों एवं रेलमार्गो के लिए परिव्यय वृद्धि के साथ राष्ट्रीय निवेश और अवसंरचना निधि की स्थापना की सराहना करते हुए सांसदों ने कहा कि इस बजट में केन्द्रीय सरकार द्वारा मेट्रो परियोजनाओं के लिए 8260 करोड़ रूपये का प्रावधान किया गया है। इससे जयपुर मेट्रो के निर्माण में सहायता और गति मिलेगी। बजट में बढ़ते शहरीकरण और विश्वस्तरीय शहरी बुनियादी ढ़ाचे की जरूरत पर जोर देते हुए सौ स्मार्ट सिटी के लिए 5899करोड़ रूपये का प्रावधान किया गया है इससे राजस्थान को भी फायदा मिलेगा।


     सांसदों ने मात्र 12 रूपये प्रतिवर्ष के प्रीमियम पर आधारित ‘‘प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना’’ शुरू करने तथा ‘‘अटल पेंशन योजना’’ के साथ-साथ ‘‘प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना’’ शुरू करने की सराहना करते हुए कहा कि इस ‘‘ज्योति बीमा योजना’’ से 18-50आयु वर्ग समुह के नागरिकों को काफी फायदा होगा।


     बजट में वरिष्ठ नागरिकों, महिलाओं एवं उपेक्षित वर्गो के कल्याण के लिए किए गए अतिरिक्त प्रावधानों का स्वागत करते हुए सांसदाें ने कहा कि इससे समाज के सभी वर्गो का उत्थान होगा तथा देश के आर्थिक विकास को गति मिलेगी। साथ ही छोटे एवं सीमांत किसानों पर विशेष ध्यान देते हुए उनके लिए निर्बाध कृषि ऋण निधि को बढ़ाने, मनरेगा के लिए आर्थिक सहायता को बढ़ाने पर आभार व्यक्त करते हुए सांसदों ने कहा कि इससे विकास का लाभ अंतिम आदमी तक पहुंच पायेगा। यह बजट प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के संकल्प ‘‘सबका साथ-सबका विकास’’ को दर्शाता है।