राशन कार्ड फीडिंग में लापरवाही बरत रहे हैं पूर्ति विभाग के कर्मचारी

  • 2015-02-23 02:00:41.0
  • उगता भारत ब्यूरो
राशन कार्ड फीडिंग में लापरवाही बरत रहे हैं पूर्ति विभाग के कर्मचारी

 सन्तोष सिन्हा


अम्बेडकरनगर,  जनपद में खाद्य पूर्ति विभाग के कर्मचारियों द्वारा राशन कार्ड फीडिंग में काफी लापरवाही बरती जा रही है। उपभोक्ता तो अपना राशन कार्ड फार्म भर कर कोटेदार के यहां जमा कर देते हैं। लेकिन जब यही फार्म खाद्य पूर्ति विभाग के कर्मचारियों के समक्ष पहुॅचता है तो लापरवाही के चलते नेट पर गलत फीडिंग कर देते हैं जिसका खामियाजा आम जनता को भुगतना पड़ता है, और जब जनता इसकी शिकायत लेकर पूर्ति विभाग जाती है तो उसे डाॅट फटकार कर भगा दिया जाता है।


     इस समय एक ओर जहां राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम-2013 के अन्र्तगत राशन कार्ड हेतु आवेदन भरवाये जा रहे है। वहीं बीते दिनों में इसी योजना के अन्र्तगत जनता ने आवेदन फार्म भरा था लेकिन पूर्ति विभाग के कर्मचारियों की लापरवाही के चलते नेट में गलत फीडिंग के चलते आम जनता को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। राशन कार्ड फीडिंग में मुखिया का नाम के स्थान पर किसी दूसरे का नाम भरा होना, परिवार के लोगेां की जन्म तिथि की फीडिंग गलत होना, माॅ को पत्नी के नाम से फीड करना आदि बहुत सी ऐसी गल्तियां हैं। वहीं जब आम जनता इनके सुधार के लिये विभाग के चक्कर काटती है तो उन्हे सलाह दी जाती है कि बाहर जाकर संसोधन करवा लो। यही नहीं जनता के साथ विभाग के कर्मचारियों द्वारा अभद्र व्यवहार भी किया जाता है। खाद्य पूर्ति अधिकारी भी अपनी कुर्सी से नदारद रहते हैं। ऐसे में आम जनता इसकी शिकायत किससे करे। अधिवक्ता रणवीर सिंह ने बताया कि उन्होंने अपना राशन कार्ड का फार्म काफी समय पहले ही जमा कर दिया था लेकिन आज तक उनका नाम इण्टरनेट पर नहीं आया। वहीं संजय कुमार एडवोकेट ने बताया कि उनके में माॅ को पत्नी बना दिया गया है और परिवार के सभी सदस्यों की जन्म तिथि भी गलत है। संजय कुमार ने बताया कि जब वह इसकी शिकायत लेकर पूर्ति अधिकारी के पास गये तो वह नदारद मिले और जब कर्मचारियों से कहा तो कर्मचारियों ने कहा कि तुमने फार्म में गलत भरा है। जब उन्होंने फार्म की फोटो कापी दिखायी तो कहने लगे कि बहुत काम रहता है ओवर लोड रहता है गलत हो गया होगा और कहने लगे कि बाहर से जाकर सही करवा लो। जब इसकी शिकायत जिलाधिकारी से करने को कहा तो कर्मचारी कहने लगे जो करना है कर लो यहां से सही नहीं होगा जाकर बाहर से सही करवा लो। पूर्ति विभाग के इस गैर जिम्मेदाराना कार्यो को लकर आम जनता को काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। ऐसे मे आम जनता अब अपनी फरियाद लेकर किसके पास जाये क्योंकि इन कर्मचारियों को तो अपने आला अफसरों का ही डर नहीं है। अब तो भगवान ही मालिक है।