जानिए आपकी राशि का  मासिक राशिफल-- नवम्बर 2014

  • 2014-11-12 08:25:00.0
  • उगता भारत ब्यूरो
जानिए आपकी राशि का  मासिक राशिफल-- नवम्बर 2014

पं0 दयानंद शास्‍त्री


मेष----


माह अनुकूल है। सफलता मिलेगी। मेहनत-परिश्रम का विश्वास रहेगा। कार्ययोजना बना पाएंगे।


इस समय आप अपने वित्तीय मामलों पर अधिक ध्यान देंगे। इसके अलावा आप लम्बी अवधि का निवेश करना पसंद करेंगे।हालांकि, इस महीने  प्रगति के साथ आपके विकास की गति धीमी होना शुरू हो सकती है, क्योंकि इस समय शनि वृश्चिक राशि में प्रवेश करने जा रहा है।


इसके अलावा आपको अपने समय की स्वयं ही कीमत लगाना होगी। व्यापार-व्यवसाय में सामान्य अर्थलाभ की संभावना बनती हैं..


आपके लिए 23 और 24 तारीख अशुभ साबित हो सकती है। कुछ अनिच्छित घटना घटने की शंका से मन गलत विचार से घिरा रहेगा। शत्रु आप पर भारी पड़ सकते हैं, जबकि 25 तारीख से स्थितियां सुधरेंगी।


आपको हनुमान चालीसा का पाठ करना है एवं हनुमानजी की पूजा-उपासना करनी है। साथ ही, आपको शनि की पूजा भी करनी चाहिए।


वृष----


विपरीत वातावरण, स्थितियां रहेंगी। सोच-समझ, अनुभव से निर्णय लें। आपके लिए काफी अच्छा रहने की संभावना है। इस समय आप राहत की सांस लेंगे एवं आनंदित महसूस करेंगे। परिवार के बुजुर्ग सदस्य या आप जिसे अधिक मानतें हैं, उनसे मुलाकात हो सकती है। उनका मार्गदर्शन एवं आशीर्वाद प्राप्त होगा।


व्यापार-व्यवसाय में भी नया विवाद, परेशानी रह पाएगी। इस माह के मध्य और अंतिम चरण में आप अपने आपको एक सीमित क्षेत्र में महसूस करेंगे तथा इस समस्या से बाहर निकलने के लिए आपके प्रयास बुरी तरह असफल होंगे।अनावश्यक समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है,


कोर्ट, कचहरी, कानूनी विषयों में भी उलझनें बनी रहेंगी.आपकी राशि का स्वामी शुक्र स्वगृही राशि को छोड़कर वृश्चिक राशि में शनि के साथ युति करेगा, इसलिए 22, 23 और 24 तारीख को विशेष तौर पर सावधान रहने की सलाह है। दाम्पंत्य जीवन, साझेदारी, यात्रा में समस्या हो सकती है। माह के अंतिम चरण में आपको मेहनत के प्रमाण में कम फल प्राप्त होगा।


 मिथुन----


इस माह में स्थितियां अनुकूल रहेंगी। व्यावहारिक यश, संतोष अधिक रहेगा। मानसिक प्रसन्नता अनुभव करेंगे। मनमाफिकता से कार्य कर पाएंगे।आपको इस समय वाणी व्यवहार पर ध्यान रखना होगा। आप सुखद समय का आनंद लेंगे। आपको विद्याभ्यास, संतान एवं शेयर बाजार संबंधित मामलों में सावधान रहकर दृढ़ता के साथ आगे बढ़ना है।हालांकि, इस समय आपको कड़ी मेहनत करने के लिए तैयार रहना होगा। आपकी कोशिशों के बावजूद थोड़ी सी सफलता मिलने की संभावना है।हर कार्य में प्रतियोगिता होती है, इसलिए आपको धैर्य व शांतिमय तरीके से कार्य करना चाहिए, उत्तेजित होने की जरूरत नहीं है।


माह का मध्य दौर आपके लिए प्रतिकूल रह सकता है। इस समय बिना वजह झगड़ा या विवाद हो सकता है। कोर्ट-कचहरी या सामाजिक कार्यों में आपको नकारात्मकता का एहसास होगा। माह का अंतिम दौर भी अच्छा नहीं है, इसलिए आपको श्रद्धापूर्वक शिवजी की उपासना करनी चाहिए।


कर्क---


सूझबूझ व अनुभव ही स्थितियों को पक्षधर रख पाएंगे। स्थिति वातावरण, लाभप्रद भी रहेगा।


इस माह अनावश्यक समस्याओं की कारण आपका मन परेशान रहेगा। इसके कारण आपको निजी तौर पर दुख और निराशा प्राप्त होगी। आपका वाहन खराब हो सकता है।पैसे की हानि हो सकती है एवं इलेक्ट्रोनिक साधन बिगड़ने की संभावना भी है। प्रेम प्रसंगों में निष्फलता प्राप्त होगी। आप बहुत ही बेसब्र बन जाएंगे। शुभ कार्यों में विलंब होगा।इस महीने के अंतिम चरण में आपको अच्छा महसूस होगा। आपको लाभ होगा परंतु कितना होगा यह आपके जन्माक्षर पर निर्भर है। इसके बाद शनि आपके पांचवें गृह में प्रवेश करेगा, जिसके कारण शनि का बुरा प्रभाव कम होगा। आपका समय घूमने -फिरने, मांगलिक प्रसंगों, मित्रों-रिश्तेदारों से मुलाकात करने में आपका समय व्यतीत होगा। अपनी चंचलता पर लगाम लगाने की जरूरत रहेगी। छात्र वर्ग को विद्याभ्यास में अधिक सरलता रहेगी। संतान की इच्छा रखने वाले कपल के लिए समय अनुकूल है।


सोच-विचार, धारणा के विपरीत कार्य होंगे। नया व्यवहार, परिचय, बातचीत सामने रहेगी....


सिंह----


इस माह नौकरी-रोजगार पर ध्यान देना होगा। छोटी-बड़ी बात में भी टकराहट रह पाएगी। व्यापारिक सौदे में धोखा संभव है।वित्तीय क्षेत्र में व्यय अधिक होगा। मानसिक प्रसन्नता के लिए आप किसी खूबसूरत स्थल की सैर करेंगे। 22, 23 और 24 तारीख के मध्याह्न तक आपको मानसिक अस्वस्थता महसूस होगी। जमीन, मकान, वाहन वगैरह के मामलों में महत्वपूर्ण कागजात पर हस्ताक्षर नहीं करने हैं। माता की तबीयत की चिंता रहेगी।इस बात का ध्यान रखें कि नकारात्मक विचार आपको गलत दिशा में न ले जाएं। इष्टदेव का नाम स्मरण और आध्यात्मिक विचार सही मार्गदर्शन देंगे।आपके लिए आने वाले ढाई साल चुनौतीपूर्ण हैं। शनि की पनौती के विपरीत असर से बचने के लिए शनिवार को भोजन में उड़द से बना खाना खाएं।स्वभाव में संयम, शांति, संतोष रखें....


कन्या----


समस्याओं का समाधान निकालना होगा। विचार, ध्यान धारणा के बजाय, वास्तविकता से कार्य करें। समझौतावादी दृष्टिकोण रखें।विवाह के लिए उत्सुक जातकों को अच्छे रिश्ते आ सकते हैं। छात्रवर्ग को विद्याभ्यास में इच्छित सफलता प्राप्त करने के लिए मेहनत करनी पड़ेगी। इसके अलावा कन्या जातकों को अपने वाणी व्यवहार पर ध्यान देने की जरूरत रहेगी। यदि हो सके तो इस समय आप स्वयं को शांत रखने के लिए ध्यान, योग एवं अध्यात्म का सहारा लें


घरेलू स्तर पर भी स्थितियों में सकारात्मक बदलाव देखने को मिलेंगे। घर में जीवनसाथी के साथ एवं परिवार के अन्य सदस्यों के साथ सौहार्दपूर्ण संबंध रहने से कम से कम जीवन में आप परिवार की ओर से जरूर हल्का महसूस करेंगे।आप की राशि पर पर चल रही शनि की पनौती पूर्ण होने जा रही है, इसलिए आप


थोड़ा आराम महसूस करेंगे..


तुला---


इस माह में सतर्कता रखना होगी। बगैर जानकारी के जोखिम नहीं लें। अपनी ही गलतियों से परेशान रहेंगे। माह के अंत में कार्यभार की वजह से आप शायद थकान और आलस का अनुभव करेंगे। स्वास्थ्य अच्छा रहेगा। अधिक संवेदनशील नहीं बनने की सलाह गणेश जी देते हैं। आय से अधिक व्यय होगा। ऐसे समय में योग, ध्यान, मेडिटेशन, आध्यात्मिक अध्ययन या ईश्वर का नाम स्मरण से शांति मिलेगी...


तुला जातकों के लिए शनि की पनौती का अंतिम चरण शुरू हो रहा है। आगामी ढाई साल में आपको इस का फल मिलेगा। शनि के विपरीत प्रभाव से बचने के लिए शनिवार को भोजन में उड़द की दाल या इससे बनी कोई चीज खानी चाहिए।शनि के '"ૐ शं शनैश्वराय नमः" मंत्र की 11 माला करें। शनि संबंधित चीजें जैसे कि काले तिल, तेल, छाता, चप्पल, लोहे की चीज आदि, काले उड़द, पैसे या किसी भी खाद्य पदार्थ का गरीब तथा भिक्षुक को दान करें।


वृश्चिक---


उत्साह, आत्मविश्वास प्रयासरत रहें। छोटी-बड़ी बात को भी महत्व दें। आपसी विवाद, मतभेदों से दूर रहें। अनिश्चितता माह में रहेगी। इस माह के दौरान व्यापार में विस्तार, नौकरी में नए मौके या वेतनवृद्धि होने की संभावना है। माह के अंतिम चरण में आप में साहसवृत्ति अधिक रहेगी, इसलिए अविचारी साहस से दूर रहें। पिता के साथ मनमुटाव हो सकता है। इस समय प्रभुत्ववादी होना घातक सिद्घ हो सकता है एवं अनैतिक कार्य करने से बचने की जरूरत रहेगी। आप की दिनचर्या बिगड़ सकती है।इस माह की शुरूआत में सुख-सुविधा अच्छी प्राप्त होगी। घर में गृहसज्जा के लिए नयी चीज की खरीदारी की संभावना हैं..कामकाज में नियमितता रखना होगी....


वृश्चिक राशि के जातकों के लिए शनि की पनौती का दूसरा दौर शुरू होगा। शनि की पनौती के विपरीत असर से बचने के लिए शनिवार को भोजन में उड़द से बना भोजन लें। शनिवार को 'ॐ शं शनैश्चराय नमः' मंत्र की 11 माला का जाप करें।


धनु----


बेहतर स्थितियों में प्रवेश करेंगे। बचत, निवेश में भी लाभ मिलेगा। माह में प्रतिष्ठा, संतोष का वातावरण रहेगा। शारीरिक स्वस्थता रहेगी। सार्वजनिक जीवन में मान-सम्मान बढ़ेगा। परिवार में सहोदरों से आपके संबंध सौहार्दपूर्ण रहेंगे। इस महीने वाहन चलाते समय सावधानी बरतने की जरूरत है। सांख्यिकीय व्यवसायों से जुड़े जातकों को भी सावधान रहने की आवश्यकता है। छात्रवर्ग को भी एकाग्रता का अभाव रहेगा। आप व्यवसाय में प्रगति के लिए लंबी यात्रा करेंगे


इस मन में आपको पारिवारिक क्षेत्र में भी विपरीत परिस्थिति का सामना करना पड़ेगा, ऐसी संभावना है। परिवर्तन संसार का नियम है और शनि सबसे पहले भावनात्मक विचार लाएगा और जीवन में एक नया समय आ रहा है, इसका एहसास कराएगा।इस समय सतर्क रहने की अधिक जरूरत है। अपने वाणी व्यवहार पर पूरा ध्यान दें। इस सप्ताह से आप के लिए शनि की साढ़े साती का प्रारंभ हो रही है।


शनि की पनौती के विपरीत असर से बचने के लिए 'ॐ शं शनैश्चराय नमः' मंत्र की 11 माला करें। शनिवार को भोजन में उड़द से बना खाना खाए..


मकर---


इस माह में सब कुछ ठीक होते हुए भी प्रतिकूलता दिखेगी। स्वभाव में आवेश, क्रोध रहेगा। व्यवहार में जैसे को तैसा वाला विचार नहीं रखें।अचल सपंत्ति तथा जमीन संबंधित किसी भी कार्य में विघ्न आने की संभावना है। वैचारिक अस्थिरता और मानसिक स्थिति डगमगाने से मौसम की तरह मूड पल-पल बदलता रहेगा, जिसके कारण आपके परिवारिक संबंध प्रभावित हो सकते हैं। आपको कोर्ट-कचहरी संबंधित कार्य में सावधानी बरतने की जरूरत रहेगी। मन में वैचारिक उथल-पुथल रहेगी। यह सप्ताह व्यवसायिक उन्नति के लिए उत्तम है।सरकारी कामकाज या सरकार द्वारा आपको लाभ मिल सकता है। नौकरी में आपको सत्ता एवं नई जिम्मेदारी मिलेगी। आपकी प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी..शनि राशि परिवर्तन करके तुला से वृश्चिक राशि में प्रवेश करेगा, जिसका प्रभाव आगामी ढाई साल तक रहेगा। शनि के विपरीत प्रभाव से बचने के लिए शनिवार को भोजन में उड़द की दाल शामिल करें।


कुंभ---


आपको अधिकारी सहयोग करेंगे , प्रसन्नता दर्शाएंगे। इस माह में सफलताओं की अधिकता रहेगी। अधिकतर कामकाज अनुकूल बनेंगे। दुस्साहस करने से बचें। आपके पराक्रम स्थान का स्वामी मंगल आपके लाभ स्थान में है इसलिए लाभ होगा।भाग्य स्थान में सूर्य-शनि की युति होने से अपेक्षा की तुलना कम परिणाम मिलेगा।घर-परिवार और कार्यक्षेत्र में आप मूल्यवान और महत्वपूर्ण व्यक्ति के रूप में उभर कर आएंगे। इस सप्ताह में शनि राशि परिवर्तन करके आप के कर्म स्थान में वृश्चिक राशि में ढाई साल के लिए भ्रमण करेगा इसलिए आपको शनि महाराज की पूजा करने की सलाह दी जाती है।


बेहतर परिणामों की अपेक्षा रह पाएगी....


मीन---


स्वयं को समझना होगा। ग्रहयोग माह में सामान्य फलदायी रहेंगे। आसानी से होने वाले काम भी उलझेंगे।


कम दूरी की यात्रा का आयोजन होगा। समाज में मान-सम्मान बढ़ेगा। बीमा एजेंट, अकाउन्टेंट, कैशियर, कमिशन जैसे व्यवसाय से सम्बंधित जातकों को लाभ हो सकता है। सहकर्मियों के साथ आपके संबंध अच्छे रहेंगे। आपको वाहन सुख मिल सकता है। आप में परोपकार और दया अधिक रहेगी। इसी कारण आप जरूरतमंदों और पशुओं की मदद करने के लिए प्रेरित होंगे। आपके जीवन की गुणवत्ता भी ऊंचाईयों पर पंहुचने की कोशिश करेगी।परिवारिक वातावरण अच्छा रहेगा। सप्ताह के मध्य में बौद्धिक प्रवृत्तियां आपको व्यस्त रखेंगी। नए काम का श्रीगणेश कर सकते हैं। लंबे अंतर की यात्रा या धार्मिक स्थल पर जाने का योग है।शरीर में स्फूर्ति और उल्लास छाएगा। आपके कार्य बिना अवरोध के पूरे होंगे। धन लाभ का योग भी है। सप्ताह के अंत में आपके विचारों में ज़्यादा दृढ़ता आएगी। नौकरी में उच्चाधिकारियों से लाभ होगा तथा पदोन्नति की संभावना है...इस माह आपको शनि एवं हनुमान जी की पूजा करनी चाहिए। इससे आप शनि के बुरे प्रभाव को कम करने में सक्षम होंगे।