वक्त से पहले वक्त से आगे कमलनाथ का छिन्दवाड़ा

  • 2012-11-16 13:47:37.0
  • उगता भारत ब्यूरो
वक्त से पहले वक्त से आगे कमलनाथ का छिन्दवाड़ा

विकास का श्रेष्ठतम स्वरूप है छिन्दवाड़ा!
उद्योग क्षेत्र-
1 पैक हाउस अठारह करोड़ की लागत से बने मोहखड विकास खण्ड के ग्राम तन्सरामाल में संतरा उत्पादक किसानों के लिए निर्मित।
2 मसाला पार्क-20 करोड़ की लागत से मसाला फसलों के उत्पादक किसानों को उनकी कृषि उपज का उचित मूल्य दिलवाने तथा रेाजगार उपलब्ध कराने की दृष्टि से निर्मित।
3 टेक्सटाईल्स पार्क-400 करोड़ की लागत से निर्मित होने वाले टैक्सटाईल्स पार्क के साथ में 40 मेगावाट विद्युत परियोजना एक साथ संचालित करने का दृढ़ संकल्प।
औद्योगिक क्षेत्र-
1. हिंदुस्तान युनिलिवर की स्थापना 2. रेमण्ड की स्थाना 3. भंसाली की स्थाना 4. ब्रिटानिया की स्थापना, 5. सूर्यवंशी स्पिनिंग मिल की स्थापना, 6. पीबीएम पॉलीटेक्स की स्थापना 7. क्योरबर्थ लिमिटेड की स्थापना 8. ऑटोमेटेड सेंटर फॉर टेस्टिंग इंसपेक्शन ऑफ व्हीकल्स की स्थापना इन फेेक्ट्रियों में जिले के युवा वर्ग को रोजगार दिलवाया गया है। साथ ही 10-12 वीं पास युवाओं के लिए कमलनाथ जी द्वारा देश की नामी गिरामी कंपनियों में रोजगार उपलब्ध कराकर उन्हें सक्षम बनाने का प्रयास किया गया है। छिंदवाड़ा शहर में जानी मानी कंपनियों के कैंपस लगाकर उन्हें रोजगार उपलब्ध कराया गया।
शैक्षणिक सुविधाओं-
1. बहुकुही में एक एवं छिंदवाड़ा शहर में दो केन्द्रीय विद्यालय डबल शिफ्ट में प्रारंभ जिससे छात्र छात्राओं को सुगमता प्राप्त। 2. ग्राम सिंगाड़ी के पास नवोदय विद्यालय का शुभारंभ। 3. कस्तूरबा विद्यालय का शुभारंभ, 4. जिले में जुन्नारदेव सिंगार दीप (बिछुआ) में एकलय आवासीय विद्यालय का शुभारंभ, जिसमें छात्राओं को रहने की सुविधा। 5. ग्राम जुन्नारदेव में केन्द्रीय विद्यालय शीघ्र प्रारंभ। 6. महिला पॉलिटेक्निक विद्यालय का शुभारंभ, 5. ग्राम जुन्नारदेव में केन्द्रीय विद्यालय शीघ्र प्रारंभ। 6. महिला पॉलिटेक्निक विद्यालय का शुभारंभ व चौराई में माह जुलाई 2012 से इसी सत्र में केन्द्रीय विद्यालय का शुभारंभ एवं छिंदवाड़ा में ऑटोनामस कालेज का शुभारंभ। 7. जिले के सभी विकास खंडों में महाविद्यालय तथा नॉलेज पाईंट की स्थापना। 8. उच्च शिक्षा हेतु छिंदवाड़ा बैतूल मार्ग पर तथा ग्राम नेर में इंजीनिरिंग कालेज की आधारशिला।
सर्व शिक्षा अभियान के अंतर्गत कमलनाथ के प्रयासों से केन्द्र सरकार के माध्यम से राशि 38 करोड रूपये जिले को आवंटित कराई है। इस राशि से इसी वर्ष 90 मिडिल स्कूल दुर्गम क्षेत्र में खोले जावेंगे तथा जीर्ण शीर्ण भवनों को हटाकर नये भवन निर्मित होंगे ताकि दुर्गम क्षेत्र के आदिवासी छात्र छात्राओं को शिक्षा लाभ मिल सके। 1. दुर्गम क्षेत्र में 90 मिडिल स्कूलों का निर्माण। 2. जीर्ण शीर्ण भवनों को हटाकर नये भवनों का निर्माण। 3. 128 स्कूलों का मरम्मत कराई। 4. 303 स्कूलों में अतिरिक्त कक्षों का निर्माण 5. 439 कन्या स्कूलों में कन्या शौचालय का निर्माण। 6. 364 स्कूलों में पानी की व्यवस्था हेतु नलकूप खनन कार्य साथ ही 2500 अध्यापक एवं सहायक अध्यापकों की नियुक्ति होगी।
तकनीकी शिक्षा के क्षेत्र में नये आयाम - छिंदवाड़ा शहर में सिवनी मार्ग पर एनआईआईटी प्रशिक्षण संस्था की स्थापना, छिंदवाड़ा-नागपुर रोड पर स्थित इमलीखेड़ा में प्रदेश के पहले फुटवियर डिजाईन सेंटर की स्थापना एवं शुभारंभ, सीसीआई के तत्वाधान में आठ कंपनियों द्वारा जिले के छात्र-छात्राओं को रोजगारोन्मुख बनाने हेतु छिंदवाड़ा शहर के ईमलीखेड़ा निर्मित नये भवन में स्किल टे्रनिंग सेंटर की स्थापना एवं शुभारंभ। जिसमें कक्षा आठवीं से बारहवीं तक के छात्र-छात्राओं को तकनीकी प्रशिक्षण देकर रोजगार मुहैया कराने का सुनहरा अवसर उपलब्ध कराया गया, एटीडीसी प्रशिक्षण सेंटर की स्थापना, स्टार एचआर की स्थापना, सार्थक पहल। भारत सरकार द्वारा मोटर ड्राइविंग टे्रनिंग स्कूल की स्थापना, ऐजिस कॉल सेंटर की स्थापना हवाई पट्टी के पास, स्टैंडर्स चार्टेड कॉल सेंटर की शीघ्र स्थापना एवं प्रारंभ, रूरल सोर्स एयरटेल कॉल सेंटर चांद में स्थापना एवं द्वितीय केन्द्र की स्थाना शीघ्र।
सड़क सुविधाएं-सड़कों के महाजाल में छिंदवाड़ा जिला देश में प्रथम जिला है। 1. राष्ट्रीय राजमार्ग को छिंदवाड़ा से जोडऩे के लिए रिंग रोड का निर्माण राशि 1433 करोड़ रूपये स्वीकृत रूपये स्वीकृत। नरसिंहपुर से छिंदवाड़ा मार्ग, मुलताई से छिंदवाड़ा सिवनी बाईपास, प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना के अंतर्गत 400 से 800 तक की जनसंख्या वाले आदिवासी व गैर आदिवासी ग्रामों में ग्रामीण सड़कों का निर्माण स्वीकृत। छिंदवाड़ा शहर के चारफाटक रेलवे क्रॉसिंग छिंदवाड़ा से सिवनी मार्ग पर फ्लाईओवर ब्रिज का निर्माण कार्य, छिंदवाड़ा के ग्राम ईमलीखेड़ा में अण्डरब्रिज का निर्माण पाण्डुर्ना रिंग रोड हेतु 23 करोड़ की योजना स्वीकृत कार्य, भारत सरकार के उपक्रम एनटीवीसी और एनबीसी के द्वारा एक करोड़ दस लाख रूपये की राशि पाण्ढुर्ना, सौंसर एवं बिछुआ की विभिन्न सड़कों हेतु स्वीकृति, डब्ल्यूसीएल के मार्फत सीएसआर पर छिंदवाड़ा जिले में करोड़ों रूपये की सड़कों का महाजाल शीघ्र प्रारंभ, एनटीपीसी तथा एनबीसीसी एवं पावरग्रिड ईपीआई, बीएचईएल के द्वारा छिंदवाड़ा जिले में करोड़ों रूपये की सड़कों का महाजाल शीघ्र प्रारंभ, एनटीपीसी तथा एनबीसीसी एवं पावरग्रिड ईपीआई बीएचईएल के द्वारा छिंदवाड़ा जिले में आंतरिक सड़कों का कार्य शीघ्र प्रारंभ। ग्रामीण अंचलों एवं पिछड़े क्षेत्रों के विकास हेतु आईएपी एकीकृत कार्य योजना प्रति वर्ष तीस करोड़ की राशि एवं बीआरजीएफ (बैकवर्ड रीजन ग्रांट फंड) चालीस करोड़ अतिरिक्त राशि पिछड़े क्षेत्रों के विकास हेतु प्रतिवर्ष केन्द्र सरकार द्वारा सौगात दिलाई गयी।
आवासीय सुविधाएं-छिंदवाड़ा शहर में एकीकृत आवास एवं मलिन बस्ती विकास कार्यक्रम के अंतर्गत छिंदवाड़ा, मोहगांव, सौंसर, पाण्ढुर्ना, चौरई, न्यूटन, चांदामेटा, हर्रई से गरीबों के लिए पक्के आवास निर्माण स्वीकृत।
रेलवे सुविधाओं में विस्तार-छिंदवाड़ा से इंदौर (फास्ट पैंसेंजर टे्रन प्रतिदिन प्रारंभ) छिंदवाड़ा से सराय रोहिल्ला दिल्ली फास्ट पैंसेंजर टे्रेन प्रतिदिन प्रारंभ, छिंदवाड़ा जिले की पाण्ढुर्ना तहसील से खण्डवा टे्रन का शुभारंभ, छिंदवाड़ा से नागपुर ब्राडगेज लाईन परियोजना हेतु 700 करोड़ रूपये की लागत से कार्य प्रारंभ कार्य प्रगति पर है, छिंदवाड़ा से नैनपुर मण्डल ब्राडगेज लाईन का कार्य प्रारंभ, सौंसर से पाण्ढुर्ना नई रेल लाइन की स्वीकृति, छिंदवाड़ा में मॉडल स्टेशन का निर्माण का प्रारंभ, छिंदवाड़ा से नरसिंहपुर, सागर रेल लाईन की स्वीकृति, आमला से छिंदवाड़ा एवं छिंदवाड़ा से नागपुर रेल लाईन विद्युतीकरण की स्वीकृति कार्य प्रारंभ, परासिया स्टेशन मॉडल स्टेशन के रूप में शीघ्र विकसित, जुन्नारदेव स्टेशन मॉडल स्टेशन के रूप में शीघ्र विकसित, छिंदवाड़ा जिले की पाण्ढुर्ना तहसील रेलवे स्टेशन का मॉडल स्टेशन के रूप में कार्य पूर्णत: की ओर है।
नई कोयला खदानों का विस्तार-
कोयलाचंल क्षेत्र में मजदूरों के हित में एवं उनके अधिकारों की रक्षा हेतु नई योजना खदानों का शुभारंभ।
छात्र-छात्राओं को रोजगार की उपलब्धता-जिले के छात्र-छात्राओं को उनके ज्ञान के आधार पर राष्ट्रीय, बहुराष्ट्रीय कंपनियों में नौकरी के अवसर प्रदान कर लगभग साठ कंपनियों में माननीय कमलनाथ जी ने उन्हें रोजगार उपलब्ध कराया जिसमें नैवी, आर्मी एवं एयर फोर्स में भी नियुक्तियां मिलीं।
दूरसंचार एवं डाकघर सुविधाओं में विस्तार बैंकों का विस्तार-माननीय कमलनाथ जी के अथक प्रयास से छिंदवाड़ा जिले में ग्रामीण अंचलों में भी बैंकों की सुविधा उपलब्ध कराने हेतु राष्ट्रीय बैंकों की नई शाखाओं का शीघ्र प्रारंभ।
जलाशयों का निर्माण-जिले में विभिन्न ग्रामीण अंचलों में वर्षा के जल को एकत्र कर सिंचाई हेतु जलाशयों का निर्माण कराया गया।
बुनकरों का उत्थान-छिंदवाड़ा जिले के सौंसर, मोहगांव लोधीखेड़ा, छिंदवाड़ा के बुनकरों की दशा सुधारने हेतु नई तकनीकों के अनुरूप कार्य योजना शीघ्र प्रारंभ।
स्वास्थ्य सुविधाओं में विस्तार-जिले के मुख्यालय अस्पताल में सुविधाओं की दृष्टि से जिला अस्पताल तथा अन्य अस्पतालों में रोगियों की सुविधा हेतु एंबूलेंस सेवा, ब्लड बैंक की व्यवस्था, तथा अस्पताल भवनों का निर्माण।
विद्युतीकरण-छिंदवाड़ा जिले के अंतर्गत प्रत्येक मजरे टोले व ग्रामीण अंचल बिजली हेतु राजीव गांधी विद्युतीकरण योजना का क्रियान्वयन।
खेल सुविधाओं का विस्तार-छिंदवाड़ा शहर में प्रियदर्शिनी इंदिरा गांधी क्रिकेट मैदान की स्थापना होनहार खिलाडिय़ों के लिए ब्रुस एडम्स क्रिकेट एकेडमी की स्थापना।
नये फिल्टर प्लांट की सौगात-छिंदवाड़ा शहर को शुद्घ पेयजल हेतु नये फिल्टर प्लांट सहित ग्रेविटी पाईप लाइनों की सुविधा उपलब्ध कराई गयी है।
अब छिंदवाड़ा भी पर्यटन की भूमिका में-जिले को पर्यटन से जोड़ा गया है ये स्थल हैं-विशाला फुट हिल्स (जुन्नारदेव) हॉट वॉटर कुण्ड (अनहोनी) तामिया, महादेव मंदिर, राधादेवी, बिछुआ, एवं हिंगलाज मंदिर बिछुआ, पातालेश्वर मंदिर छिंदवाड़ा, जाम सवाली मंदिर सौंसर, काली माता मंदिर लिंगा छिंदवाड़ा, सप्तधारा दर्शन (झिरपा) तामिया, कांधला धाम जुन्नारदेव, महादेव मंदिर शंकरवन बिछुआ।
नगर पालिका एवं नगर पंचायत क्षेत्र में केन्द्रीय योजनाओं हेतु आवंटित राशि-एकीकृत आवास मलिन बस्ती, सामाजिक सुरक्षा पेंशन, इंदिरा गांधी वृद्घावस्था, विधवा पेंशन, निशक्त पेंशन,राष्ट्रीय परिवार सहायता योजनाओं में प्राप्त राशि रूपये 7672.33 लाख।