मायावती पर अभद्र टिप्पणी करने वाले दयाशंकर सिंह बक्सर से गिरफ्तार

  • 2016-07-29 12:00:18.0
  • अमन आर्य
मायावती पर अभद्र टिप्पणी करने वाले दयाशंकर सिंह बक्सर से गिरफ्तार

लखनऊ । बहुजन समाज पार्टी की मुखिया मायावती के खिलाफ बेहद अमर्यादित भाषा का प्रयोग करने के मामले में फरार दयाशंकर सिंह को बिहार के बक्सर से गिरफ्तार कर लिया गया है।

भाजपा उत्तर प्रदेश के निष्कासित उपाध्यक्ष दयाशंकर को उत्तर प्रदेश एसटीएफ तथा बिहार पुलिस की टीम ने संयुक्त अभियान में पकड़ा है। दयाशंकर सिंह बिहार के बक्सर के मूल निवासी हैं।

दयाशंकर का ननिहाल उत्तर प्रदेश के बलिया में हैं। चंद रोज पहले ही दयाशंकर सिंह बिहार के देवधर में भगवान शिव के मंदिर में दिखाई पड़े थे। आज बक्सर के थाना टाउन बाजार क्षेत्र से दयाशंकर सिंह को गिरफ्तार किया गया। यूपी एसटीएफ के एएसपी केशव यादव ने बिहार पुलिस के साथ एक संयुक्त अभियान में दयाशंकर सिंह को बक्सर में चीनी मिल क्षेत्र से गिरफ्तार कर लिया। अब दयाशंकर को लखनऊ में पेश किया जाएगा। इसके बाद जांच होगी कि वह कैसे बिहार पहुंचे। इसके साथ ही दयाशंकर को अपने घर में ठिकाना देने वालों के खिलाफ भी मामला दर्ज किया जाएगा।

चार दिन से ट्रेस किया जा रहा था लोकेशन

पुलिस चार दिनों से दयाशंकर का मोबाइल लोकेशन ट्रेस कर रही थी। गुरुवार की रात दयाशंकर का मोबाइल लोकेशन देवघर दिखा रहा था। शुक्रवार को उनका मोबाइल लोकेशन बक्सर दिखाने लगा। इसके बाद उत्तर प्रदेश पुलिस सक्रिय हुई और बक्सर पुलिस के सहयोग से छापेमारी की। चीनी मिल मोहल्ले में छापेमारी में दयाशंकर पकड़े गए।बक्सर के एसपी उपेन्द्र शर्मा ने कहा कि यूपी पुलिस की टीम यहां छापेमारी को पहुंची थी। बक्सर पुलिस के सहयोग से दयाशंकर की गिरफ्तारी हुई है।

क्या है मामला

यूपी बीजेपी का उपाध्यक्ष बनाए जाने के बाद मऊ पहुंचे दयाशंकर सिंह ने बसपा सुप्रीमो मायावती पर अभद्र टिप्पणी की थी, इसके बाद यह मामला राज्य सभा में भी गूंजा था। मामले की गंभीरता को देखते हुए बीजेपी ने तुरंत कार्रवाई करते हुए दयाशंकर सिंह को सभी पदों से हटाते हुए पार्टी से छह साल के लिए निष्काषित कर दिया।

मामले की गंभीरता को देखते हुए बीजेपी ने तुरंत कार्रवाई करते हुए दयाशंकर सिंह को सभी पदों से हटाते हुए पार्टी से छह साल के लिए निष्काषित कर दिया। उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती के खिलाफ अभद्र टिप्पणी करने के बाद दयाशंकर के खिलाफ हजरतगंज थाने में एससी-एसटी अधिनियम के तहत एफआईआर दर्ज करायी गई थी।