अनजाने अटलजी

  • 2016-08-12 08:30:03.0
  • अमन आर्य
अनजाने अटलजी

बहुत कम लोग होंगे जो अटलजी के ये कारनामे जानते होंगे-पहली सरकार मात्र 13 दिन में गिर जाने के बाद जो उनकी जो दूसरी सरकार बनी वह भी मात्र 13 महीने ही चल पाई और वह भी भानुमति के कुनबे की तरह कई पार्टियों के गठजोड़ के साथ!

अटलजी ने सोचा कि पता नहीं सरकार कब गिर जाए और उन्होंने अपने कार्यकाल के पहले ही गणतन्त्र दिवस पर इस्रायल के प्रधानमन्त्री एरियल शेरोन को मुख्य अतिथि के रूप में बुलाने का वह ऐतिहासिक काम किया जो उनके पहले और उनके बाद कोई न कर सका! नरसिंहारावजी परमाणु परीक्षण करना चाहते थे लेकिन अमेरिका के इशारे पर सोनिया ने उनके कान उमेठ दिए। अटलजी के प्रधानमन्त्री बनने के बाद रावजी ने अटलजी को इशारों में कहा कि मुझे उम्मीद है कि आप मेरा बचा काम पूरा करेंगे!

अटलजी ने प्रधानमन्त्री बनते ही उस समय के मिसाइल मेन कलामजी को बुला कर कहा कि इस काम के लिए कितना समय चाहिए? कलामजी ने कहा 2 महीने भी नहीं लगेंगे

, बस आपकी मंजूरी चाहिए! अटलजी ने कहा अभी इसी वक्त से ही मंजूरी है! कलामजी ने भी अपना वादा पूरा किया और दुश्मनों के रातों की नींद उड़ाने वाले कई सफल परमाणु परीक्षण कर डाले!! अटलजी ने इस काम के लिए अमेरिका, यूरोप सहित किसी की परवाह नहीं की!

उनको सबसे पहले नरसिंहारावजी ने बधाई दी और कहा कि आपने मेरा काम पूरा किया!!!

अटलजी ने प्रधानमन्त्री रहते हुए संसद में वह मशहूर बयान ऑन रिकॉर्ड दिया था जिसे सुना और दोहराया सबने है किन्तु यह बहुत कम लोगों को पता है कि यह बयान अटलजी का है -हर मुसलमान आतंकवादी नहीं होता किन्तु हर आतंकवादी मुसलमान ही क्यों होता है?

कारगिल युद्ध के समय पाकिस्तानी प्रधानमन्त्री नवाज शरीफ ने अमेरिका जा कर वहां के राष्ट्रपति बिल क्लिंटन को कहा कि हम हार के कगार पर हैं और हमारे पास भारत पर परमाणु बम गिराने के अलावा कोई चारा नहीं है! क्लिंटन ने नवाज शरीफ को समझाया कि आप ऐसा बिलकुल न करें लेकिन नवाज शरीफ अपनी बात पर अड़ा रहा और बोला कि आपके अटलजी से रिश्ते हैं आप उन तक मेरा सन्देश दे कर उन्हें समझा दीजिए कि भारत युद्ध से पीछे हट जाए नहीं तो परिणाम भुगते!

क्लिंटन ने जब अटलजी को फोन लगाया उस समय भारत में आधी रात का समय था।

अटलजी ने क्लिंटन का फोन सुन कर कहा -मैं 50 करोड़ भारतियों और आधे भारत को ख़त्म मान चुका हूँ लेकिन सारा का सारा पाकिस्तान कल का सूरज नहीं देखेगा!" इतना कह कर फोन काट दिया!! अमेरिका के राष्ट्रपति को पहली बार किसी ने ऐसा जवाब दिया था!!!

बिल क्लिंटन ने अटलजी का जवाब बताते हुए नवाज शरीफ को कहा कि तुरन्त पाकिस्तान जाओ और बिन शर्त युद्ध विराम करो नहीं तो परिणाम तुम्हें भारी पड़ेगा!

और इतिहास गवाह है कि नवाज शरीफ को ऐसा ही करना पड़ा!!

तो ऐसे हैं हमारे कवि हृदय अटलजी!!!

सभी को अटलजी से प्रेरणा लेने की आवश्यकता है!!!!!..