अल्लाह ताल्हा से दुआ करता हूं कि हिंदुस्तान में हमेशा भाईचारा बना रहे-आमिर सिद्दीकी

  • 2016-10-29 12:30:56.0
  • मनोज शास्त्री
अल्लाह ताल्हा से दुआ करता हूं कि हिंदुस्तान में हमेशा भाईचारा बना रहे-आमिर सिद्दीकी

चांदपुर। समाजवादी पार्टी के दबंग युवानेता, चांदपुर नगरपालिका परिषद के अध्यक्ष पद के भावी उम्मीदवार एवं युवाओं के लिए आदर्श बन रहे आमिर सिद्दीकी ने ''उगता भारत'' को दिये एक साक्षात्कार में युवाओं को क्या संदेश दिया, आईये जानते हैं---

उगता भारत- आप कितने समय से राजनीति में सक्रिय हैं?
आमिर सिद्दीकी- राजनीति से मेरा परिचय करीब 9-10 वर्ष पूर्व मेरे श्वसुर जनाब अंजुम रजा साहब ने कराया था। अंजुम रजा साहब सपा के एक समर्पित कार्यकर्ता हैं। तभी से मैं सक्रिय राजनीति में हूं।

उगता भारत- समाजवादी परिवार में इस समय जो विवाद चल रहा है, उसपर आपका क्या कहना है?
आमिर सिद्दीकी- हर परिवार में कुछ न कुछ उठापठक होती ही रहती है। चाहे वो आपका परिवार हो अथवा मेरा। ठीक उसी प्रकार का छोटा-मोटा वाद-विवाद शायद यादव परिवार में भी हो सकता है। लेकिन कुछ सांप्रदायिक ताकतें जो विकास की नहीं बल्कि विनाश की राजनीति पर कार्य कर रही हैं, नहीं चाहतीं कि उत्तर प्रदेश में विकास की जो गंगा माननीय मुख्यमंत्री जनाब अखिलेश यादव साहब ने बहाई है, वह निरंतर प्रवाहित होती रहे। वह उसमें बाधा डालना चाहते हैं और इसी के चलते उन्होंने मीडिया के उन लोगों को खरीद लिया जो चंद सिक्कों के खातिर पत्रकारिता जैसे पवित्र पेशे को बदनाम करते हैं, और समाजवादी परिवार के खिलाफ यह घिनौनी साजिश रची और बात का बतंगड़ बना दिया। 

उगता भारत-  इस बार उत्तर प्रदेश में किस पार्टी की सरकार बनने की उम्मीद है?
आमिर सिद्दीकी- इस बार ही क्या बार-बार और हर बार प्रदेश में समाजवादी की ही सरकार बनेगी। प्रदेश की जनता अब सब षडयंत्र समझ चुकी है और वो किसी भी सूरत में उन लोगों के झांसे में नहीं आयेगी जो जातिवाद या धर्म के नाम पर इस देश के टुकड़े-टुकड़े करना चाहते हैं। इस बार उन्हें मुंह की खानी पड़ेगी।

उगता भारत- क्या  भारत में ''एक देश, एक कानून'' होना चाहिए?
आमिर सिद्दीकी- बेशक होना चाहिए, पर किसी की भी धार्मिक भावना से खिलवाड़ नहीं होना चाहिए। इस देश में हर कौम, हर मजहब और हर संप्रदाय के लोग रहते हैं, लिहाजा उन लोगों की भावनाओं को भी ध्यान में रखना चाहिए। कोई भी फैसलाा चुनाव से होना चाहिए न कि दबाव से।

उगता भारत-इस देश में मुसलमानों की क्या स्थिति है?
आमिर सिद्दीकी- आज इस देश की सरकार मुसलमानों के साथ जो सुलूक कर रही है,वो बिल्कुल वैसा ही है जैसा कि कोई मकान मालिक अपने किरायेदारों के साथ करता है। उसे बार-बार देश छोडऩे की धमकियां दी जाती हैं, उसकी देशभक्ति पर भी संदेह किया जाता है। जबकि सच ये है कि मुसलमानों ने इस देश के लिए अपनी जान कुर्बान की है। एक सच्चा मुसलमान कभी गद्दार नहीं हो सकता। इस्लाम अमन और मौहब्बत का दूसरा नाम है। मुसलमान भाईचारे, प्यार-मौहब्बत और स्वाभिमान के साथ इस देश में रहना चाहता है।

उगता भारत-आप 2017 में होने वाले चांदुपर नगरपालिका अध्यक्ष पद के चुनाव के भावी उम्मीदवार माने जा रहे हैं? आखिर आप किस मकसद को लेकर यह चुनाव लडऩा चाहते है?
आमिर सिद्दीकी-पिछले दस वर्षों में इस नगर की हालत बद से बदतर ही हुई है, नगर में चारों तरफ गंदगी का राज है। नगरपालिका में अराजकता का माहौल है, गुंडागर्दी और रिश्वतखोरी बढ़ी है। आम आदमी शिकायत करना तो दूर नगरपालिका में जाने से भी डरता है। कौन कहां पर थप्पड़ रसीद कर दे, इस बात का कोई भरोसा नहीं है। सच तो यह है कि पिछले दस वर्षों में नगरपालिका अब नरकपालिका बन चुकी है।

उगता भारत- अंत में आप युवा पीढ़ी को क्या संदेश देना चाहते हैं ?
आमिर सिद्दीकी- मेरी अपने नौजवान शिक्षित और सक्षम साथियों से हाथ जोडक़र अपील है कि वो राजनीति में आयें ताकि देश का विकास हो सके। 
सभी लोग आपस में प्रेम और सद्भावना से रहें। सभी नौजवान खासतौर से मुस्लिम भाई ऐसे किसी भी काम को न करें, कुछ भी ऐसा खानपीन न करें जिस पर हमारे हिंदू भाईयों को एतराज हो। क्योंकि हुजूर ने फरमाया है कि कोई भी ऐसा काम न किया जाये जिससे शर(झगड़ा) पैदा होता हो। हुजूर सल. हर मुसलमान के आदर्श हैं। मैं अल्लाह ताल्हा से दुआ करता हूं कि हिंदुस्तान में हमेशा अमन और भाईचारा बना रहेे। आमीन।

प्रस्तुति- मनोज चतुर्वेदी शास्त्री