सोनिया गांधी के दामाद का फर्जीवाड़ा

रॉबर्ट वाड्रा ने सैकड़ों करोड़ की संपत्ति अर्जित की है। कहां से आए इतने पैसे? पिछले चार सालों में रॉबर्ट वाड्रा ने एक के बाद एक 31 संपत्तियां खरीदी हैं जिसमें से अधिकांश दिल्ली और उसके आस-पास के इलाकों में हैं। इन संपत्तियों को खरीदने में वाड्रा को करोड़ो रुपए चुकाने पड़े हैं।रॉबर्ट वाड्रा और […]

Continue Reading

राजनीति के रंग

जूते-घूंसे राजनीति ओछी गंदी है, उलटी सीधी बात चलें।कहीं पै जूते फिकते देखो, कहीं पै घूंसे लात चलें।।राजनीति है बड़ी निकम्मी, घात और प्रतिघात चलें।मुश्किल सच्चे इंसानों की, बोलो किसके साथ चलें।।कुरसी के जयकारेभाषण में कहते हैं नेता, देश के हम रखवाले हैं।मतदाता के हाथ जोड़ते, सब नेता मतवारे हैं।।नेताओं को प्यारी कुरर्सी, कुरसी को […]

Continue Reading

भारत-चीन सीमा विवाद जल्द सुलझ सकता है

रक्षामंत्री एके एंटोनी ने कहा है कि चीन के साथ सीमा विवाद संबंधी विवाद को सुलझाने की बातचीत अंतिम चरण में है। रक्षा लेखा विभाग की वार्षिकी के मौके पर आयोजित समारोह में बोलते हुए रक्षामंत्री ने कहा कि हर कोई इस तथ्य से परिचित है कि कई दौर की बातचीत के बाद भी सीमा […]

Continue Reading

देश की स्थिति सचमुच चिंताजनक : चक्रपाणि

अखिल भारत हिंदू महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष स्वामी चक्रपाणि जी महाराज ने कहा है कि वर्तमान समय में मनमोहन सिंह देश के सबसे असफल प्रधानमंत्री साबित हुए हैं। उन्होंने कहा कि जो व्यक्ति कभी अपने विवेक से निर्णय ही नही ले पाया और जिसे एक रिमोट से एक महिला द्वारा दूर से चलाया गया उससे […]

Continue Reading

नेताओं के रंग

नेताओं के रंग निराले। कुरसी के सारे मतवाले।।हाथी, हाथ, साईकिल वाले। वोटर को सब चाहने वाले।।ऐसा राजनीति का ड्रामा। मचा रहे नेता हंगामा।।वोटर भी चालाक बड़ा है। उसे चाहिए दारू दामा।।छुटभैये नेतन की चांदी। सभी बने हैं गांधीवादी।।देश में लूटतंत्र हावी है। जब से पाई है आजादी।।गाफिल कहें चुनावी चक्कर। खेल खिलाता है जी भर […]

Continue Reading

ठाकरे ने सुषमा स्वराज को पीएम पद की अपनी पहली पसंद क्यों बताया?

शिवसेना प्रमुख बाल ठाकरे ने भाजपा की वरिष्ठ नेता और नेता प्रतिपक्ष श्रीमति स्वराज को पीएम पद की अपनी पहली पसंद बताया है। भाजपा ने ठाकरे की इस पसंद को ये कहकर हल्का करने का प्रयास किया है कि भाजपा में पीएम पद के एक नही बल्कि दस अच्छे प्रत्याशी हैं। यानि भाजपा ने सामूहिक […]

Continue Reading

एक के बाद एक टूट रही है टीम अन्ना

अरविंद केजरीवाल से राहें जुदा होने के बाद अन्ना हजारे को एक और झटका लगा है। लंबे समय से अन्ना के निजी सचिव रहे सुरेश पठारे ने भी उनका साथ छोड़ दिया है। पठारे का कहना है कि उन्होने निजी कारणों से ये फैसला लिया। लेकिन अन्ना के पूर्व ब्लॉगर राजू पारुलेकर का आरोप है […]

Continue Reading

कानून का संरक्षण और कानून सबके लिए समान

पिछले दिनों दादरी में हुए बवाल के चलते एक युवक की मौत पर शोक व्यक्त करते हुए अखिल भारत हिंदू महासभा के प्रांतीय अध्यक्ष ब्रहमानंद गुप्ता ने कहा है कि बवाल में युवक की हत्या होना दुख का विषय है। यह मानवता के विरूद्घ एक घातक अपराध है। इस पर राजनीति करना समाज के लिए […]

Continue Reading

पूर्वोत्तर क्षेत्र में बढ़ती अशांति

अशोक कुमार पाण्डेयहालांकि भारत को आतंवाद से जूझते हुए लगभग तीन दशकों का समय बीत चुका है, लेकिन इसकी सबसे बड़ी जो बात हुई है वह यह है कि एक तरफ देश आतंकवाद से जूझने में अपनी पूरी शक्ति तथा ऊर्जा का इस्तेमाल कर रहा है यही आतंकवाद थमने के बजाए दिनों दिन बढ़ता ही […]

Continue Reading

देश चले भगवान भरोसे

नेताओं का जोर है ऐसा। आरोपों का शोर है ऐसा।।कोई नेता लेता झप्पी। और कोई लेता है पप्पी।।पप्पी-झप्पी सब हैं लेते। पर दूजे के सर मढ़ देते।।अकल गयी सबकी बौराई। नेतागीरी ऐसी भाई।।अपना काम अगर है बनता। भाड़ में जाए देश व जनता।।राजनीति का खेल यही है। बिन मतलब के मेल नही है।।छल बल धन […]

Continue Reading