100% बढ़ेगी सांसदों की सैलरी

  • 2016-04-30 05:45:57.0
  • सौरभ सिंह आर्य

सांसदों की सैलरी

नई दिल्ली. देश के सांसदों की सैलरी और अलाउंस में 100% का इजाफा होने जा रहा है। फाइनेंस मिनिस्ट्री से प्रपोजल क्लियर हो चुका है और इस पर आखिरी मुहर नरेंद्र मोदी लगाएंगे। मोदी की मंजूरी के बाद पार्लियामेंट के अगले सेशन में इसके लिए एक बिल लाया जाएगा।

- स्पेशल पार्लियामेंट्री कमेटी ने सांसदों की सैलरी 50 हजार से एक लाख रुपए हर महीने की जाए।
- कांस्टीट्यून्सी अलांउस भी 45 हजार से 90 हजार करने की रिकमंडेशन की गई है।
- अगर ये सभी सिफारिशें मान ली जाती हैं तो सांसदों का कम्पनसेशन पैकेज एक लाख चालीस हजार रुपए महीने से बढ़कर दोगुना यानी 2 लाख 80 हजार रुपए हर महीने हो जाएगा।
- जिस कमेटी ने ये सिफारिशें की हैं उसके हेड बीजेपी सांसद योगी आदित्यनाथ हैं। इस कमेटी ने पेंशन में भी 75 फीसदी की बढ़ोतरी का सुझाव दिया है। ये भी सिफारिश है कि एक तय वक्त के बाद सैलरी का रिवीजन किया जाए।

क्या है प्रपोजल?

- फिलहाल, सांसदों को 50 हजार रुपए हर महीने सैलरी मिलती है।
- इसे एक लाख रुपए करने का प्रपोजल है।
- कॉन्स्टिट्यून्सी अलाउंस 45 हजार रुपए हर महीने है।
- इसे 90 हजार यानी दोगुना किया जा सकता है।
- सेक्रेटेरियल अलाउंस भी 45 हजार रुपए हर महीने मिलता है।
- इसे भी 90 हजार रुपए हर महीने किए जाने का प्रपोजल में जिक्र है।
किसके लिए कितना बजट?

पिछले बजट में फाइनेंस मिनिस्टर अरुण जेटली ने लोकसभा सांसदों के लिए 295.25 करोड़ रुपए और राज्यसभा सांसदों के लिए 121.96 करोड़ रुपए का बजट अलॉटमेंट किया था। इसमें ट्रैवल अलाउंस शामिल थे।
और भी कई फैसिलिटीज

- मिनिस्ट्री सांसदों की सैलरी बढ़ाने के ज्वाइंट कमिटी की सिफारिशों से तो सहमत है ही, इसके अलावा कार और फर्नीचर लोन भी बढ़ाया जाता है। अभी कार लोन के लिए 4 लाख रुपए दिए जाते हैं।
- अगर सांसदों की सैलरी का यह प्रपोजल मंजूर कर लिया जाता है तो उनकी सैलरी अपने सेक्रेटरीज से ज्यादा हो जाएगी।