सीएमओ बताकर उगाही करने वाले पांच दबोचे

प्रमुख समाचार/संपादकीय

सिंभावली, नकली सीएमओ बनकर मेडिकल स्टोर व डाक्टर के क्लीनिक पर छापा मारकर उगाही कर रहे पांच ठगों को सिंभावली में लोगों ने पकड़ लिया। लोगों ने इनकी धुनाई करने के बाद पुलिस को सौंपा दिया। जानकारी के अनुसार मनोज कुमार पुत्र ध्यान सिंह निवासी खुडलिया का सिंभावली मिल पर मेडिकल स्टोर है। सोमवार दोपहर लगभग तीन बजे उसकी दुकान पर कार सवार छह लोग पहुंचे। कार के आगे राजकीय चिकित्सा परिषद उत्तर प्रदेश सरकार का स्टीकर लगा था। कार से उतरे पांच लोगों ने मेडिकल स्टोर में रखी दवाइयों की जांच करनी शुरू कर दी। मनोज ने कारण पूछा तो इन लोगों में शामिल एक युवक ने खुद को उत्तर प्रदेश लखनऊ से मुख्य चिकित्साधिकारी (सीएमओ) बताया। सीएमओ द्वारा छापे से मनोज सकपका गया। ये लोग दुकान में रखी दवाइयां एक पेटी में भरने लगे। कुछ देर बाद टीम में शामिल एक युवक ने मनोज से कुछ ले देकर मामला रफादफा करने की बात कही तो उसका माथा ठनक गया। उसने तुरंत लोगों को एकत्र कर लिया। जिन्होंने इन लोगों की जमकर खबर ली और सिंभावली पुलिस को फोन कर सूचना दे दी। सूचना पर पहुंची पुलिस ने इन लोगों से पूछताछ की तो सारी पोल खुल गयी। पुलिस पांचों को पकडक़र थाने ले आई। जैसे ही फर्जी सीएमओ पकड़े जाने की सूचना लोगों को मिली तो देखते ही देखते लोग थाने पहुंचने शुरू हो गए। पांचों लोग फर्जी सीएमओ बनकर ब्रजघाट व कुचेसर रोड चौपला सहित आसपास के गांवों से हजारों रुपये ठग लाये थे। थाने पहुंचे डीएसपी ब्रिजेश कुमार श्रीवास्तव ने पकड़े गये लोगों से पूछताछ की। उन्होंने अपना नाम आदित्य शर्मा पुत्र परेमश्वर शर्मा निवासी छिजारसी नोएडा, जोगेन्द्र श्रीवास्तव पुत्र कैलाश चन्द्र निवासी शस्त्रीनगर गाजियाबाद, योगेन्द्र पुत्र ब्रह्मपाल निवासी शस्त्रीनगर गाजियाबाद, प्रेम कुमार पुत्र नानक चन्द्र निवासी आवास विकास हापुड़ व कार चालक उम्मेद पुत्र खलील निवासी सरावनी बताया। आरोपियों ने बताया कि सोमवार सुबह इन लोगों ने किठौर निवासी उमेद पुत्र खलील की कार किराये पर ली और उसके बाद वह थाना बाबूगढ़ क्षेत्र के गांव बरखंडा स्थित एक मेडिकल स्टोर पर गए। जहां से बीस हजार रुपये मिले। उसके बाद गढ़ के कस्बा ब्रजघाट स्थित डा.नरेश कुमार के क्लीनिक से आठ हजार रुपए एंठे। उसके बाद वह गढ़ होते हुए सिंभावली में मनोज की दुकान पर पहुंच गये, जहां इनकी पोल खुल गयी। पुलिस ने पांचों की तलाशी के दौरान उगाही के 28 हजार रुपये भी बरामद किये है। मनोज कुमार पुत्र ध्यान सिंह ने आरोपियों के विरुद्ध तहरीर दी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *