शरणार्थी बनकर त्रासदी झेल रहे कश्मीरी हिन्दुओ में जनता पार्टी ने जगाई आस

राजनीति

डॉ.सुब्रमनियन स्वामी को पुनून कश्मीर ने प्रकट किया आभार…राहुल के भाषण में हिन्दुओ के पलायन का जिक्र तक नहीं अपने ही देश में शरणार्थी बनकर त्रासदी झेल रहे कश्मीरी हिन्दुओ में जनता पार्टी ने जगाई आस; हिन्दुओ की दुर्दशा और असुरक्षा एवं भय पर पार्टी की सवेदना और समर्थन देने के लिए डॉ.सुब्रमनियन स्वामी को पुनून कश्मीर ने प्रकट किया आभार! आज जहा भारत की लगभग सभी पार्टिया सेकुलर के नाम पर वोटो की राजनीति कर रही हैं, डॉ,सुब्रमनियन स्वामी की आगुआयी वाली जनता पार्टी ने कश्मीर से हिन्दुओ के पलायन को बड़ी गंभीरता से लिया है और इस मुद्दे को राष्ट्रीय स्तर पर उठाने का निर्णय लिया है जिससे इस समस्या का जल्द ही प्रभावी रूप से समाधान निकाला जा सके। जनता पार्टी ने निश्चय किया है कश्मीरी हिंदू के घर वापसी और पुनर्वास को राष्ट्रीय मुद्दे के रूप में लिया जायेगा और जिससे सभी पार्टिया इस महत्वपूर्ण राष्ट्रीय अस्मिता के मुद्दे को नकार न सके। अभी हाल में ही जनता पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव श्री अभिषेक जोशी ने कश्मीरी हिन्दुओ के संगठन पुनून कश्मीर के प्रतिनिधियों और कश्मीर घाटी में नौकरी कर रहे हिन्दुओ से उनके कैम्पों में जाकर मुलाकात की जिसमे श्री अभिषेक जोशी ने कश्मीरी हिन्दुओ की सभी समस्याओ के सम्मानजनक समाधान के लिए पार्टी की प्रतिबद्धता जताई, पनुन कश्मीर का यह मानना है की सरकार की घोषनाए और आश्वाशन मात्र दिखावा है और उससे जमीनी स्तर पर कुछ नहीं किया जा रहा, घाटी में हिन्दुओ का धार्मिक सफाया और जबरन धर्म परिवर्तन तब तक नहीं रोका जा सकता है जबतक जनता पार्टी सरीखे पार्टिया आगे नहीं आती क्योकि धर्म निरपेक्षता का लबादा ओढ़े सत्ता और विपक्ष दोनों ने ही अब तक सिर्फ तुष्टिकरण की राजनीति किया है और घाटी में बचाखुचा हिंदू अब घोर निराशा का शिकार हो चुका है। सरकार को इस प्रकार की नीति अपनानी चाहिए की हिन्दुओ के कश्मीर घाटी में घर वापसी की उम्मीद धूमिल न हो पाए और उन परिस्थितियों को बदला जाये जिसकी वजह से कश्मीरी हिन्दुओ का संहार हुआ और हिंदू अपनी मातृभूमि से पलायन करने और नारकीय जीवन जीने के लिए मजबूर किये गए।
पनुन कश्मीर जनता पार्टी की इस प्रतिबद्धता को एक संजीवनी के रूप में ले रही है जिसकी मदद से वह भारत के अन्य राष्ट्रिय राजनैतिक दलों तक अपने मुद्दों को पहुचा सके और इस राष्ट्रिय समस्या का यथाशीघ्र प्रभावी समाधान खोजा जा सके। जनता पार्टी ने भी कश्मीरी हिन्दुओ की दुर्दशा के इस शर्मनाक मुद्दे को राष्ट्रीय स्तर पर उठाने का निर्णय लिया है और निश्चय ही इस मुद्दे को भारत के जनता का भरपूर समर्थन मिलेगा। पुनून कश्मीर ने आशा व्यक्त की है डॉ।सुब्रमनियन स्वामी और उनकी जनता पार्टी कश्मीरी हिन्दुओ की दुर्दशा और एक बहुसंख्यक समुदाय के अपने ही देश में हुई इस त्रासदी को राष्ट्रीय स्तर पर उठाकर समस्त राष्ट्र का ध्यान इस मुद्दे की तरफ खींच पायेगे जिसके परिणाम स्वरुप त्रासदी झेल रहे हिंदू परिवार बिना किसी भय के अपने घरों को वापस लौट सकें। अल्लेखनीय है की जहा जनता पार्टी कश्मीरी हिन्दुओ के त्रासदी जैसे गंभीर मुद्दे के प्रति बहुत ही संवेदनशील है, वहीँ पिछले हफ्ते कश्मीर के दौरे पर गए सत्ताधारी कांग्रेस के राष्ट्रिय महासचिव और अपने को कश्मीरी ब्राह्मण होने का दावा करने वाले राहुल गाँधी ने मंच से अपने को कश्मीरी होने का दम तो भरा लेकिन अपने अस्तित्व के लिए संघर्ष कर रहे कश्मीरी हिन्दुओ का जिक्र तक नहीं किया। आने वाले दिनों में कश्मीरी हिन्दुओ के दुर्दशा के मुद्दे के राष्ट्रीय स्तर पर गरमाने के पुरे आसार हैं ।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *