व्यापारियों की दी जाएगी बेहतर सुरक्षा: किरण एस

प्रमुख समाचार/संपादकीय

पुलिस अधीक्षक किरण एस ने सुरक्षा व अन्य समस्याओं को लेकर कोतवाली परिसर में व्यापारियों की एक बैठक ली, जिसमें पुलिस अधीक्षक ने व्यापारियों को पूर्ण सुरक्षा का आश्वासन दिया। वहीं व्यापारियों ने भी अपनी समस्या रख उनके समाधान की मांग की।
बैठक में व्यापारी विजेंद्र पंसारी ने कहा कि दुकानों में चोरी होने की घटना काफी बढ़ रही है। इसलिए बाजार बंद होने पर रात्रि ग्यारह बजे के बाद पुलिस द्वारा सभी मार्केट में कम से कम दो बार गश्त करनी चाहिए। जिससे दुकानों में होने वाली चोरी की घटनाओं पर रोक लग सके। इसके अलावा उन्होंने जाम की समस्या के निस्तारण के बारे में भी कहा। उन्होंने कहा कि तहसील चौराहे, मेरठ तिराहे, अतरपुरा चौराहे व पक्का बाग पर जाम की सबसे अधिक समस्या रहती है। जिसके निस्तारण के लिए पुलिस को कड़े कदम उठाने चाहिए। व्यापारी मनीष कुमार निटू ने अतरपुरा चौराहे पर रविवार को लगने वाले साप्ताहिक बाजार को हटाने की मांग की। उन्होंने कहा कि इस बाजार के कारण अतरपुरा चौराहे पर जाम की स्थित रहती है। इसलिए साप्ताहिक बाजार को अतरपुरा चौराहे से रामलीला मैदान या फ्री गंज रोड पर कर स्थानांतरित दिया जाए। ऐसा होने से जाम की समस्या से काफी निजात मिलेगी। व्यापारियों की समस्या व सुझाव सुनने के बाद पुलिस अधीक्षक किरण एस ने कहा कि व्यापारियों की मांग के अनुसार मुख्य रूप से बाजारों में गश्त बढ़ाई जाएगी। इसके अलावा पुलिस व्यापारियों को अन्य तरीकों से भी बेहतर सुरक्षा देना का काम करेगी। उन्होंने कहा कि व्यापारी पुलिस से संपर्क बनाकर रखे। जिसमें मुख्य रूप से व्यापारी संबंधित चौकी प्रभारियों से संपर्क बनाकर रखे।साथ ही जाम की समस्या से निजात दिलाने के लिए भी कदम उठाए जाएंगे। जिसमें उन्होंने टीएसआइ विक्रम सिंह को मौके पर बुलाकर जाम के प्रति गंभीर रुख अपनाने के निर्देश दिए।बैठक में अपर पुलिस अधीक्षक ललित कुमार सिंह, कोतवाली प्रभारी राजेंद्र सिंह यादव, व्यापारी विजय कुमार गोयल, विजय अग्रवाल, मुकेश जैन, राजेंद्र वर्मा, सुमित कंसल, नरेश कसेरा, विनोद गुप्ता, बिजेंद्र पंसारी, जगदीश प्रधान, अशोक बबली, विनोद गुप्ता, संजय गर्ग, अरविंद्र शर्मा, इंद्रजीत भुर्जी, हेंमत सैनी, ललीत छावनी वाले, सतीश केले वाले, संजय अग्रवाल, राकेश अग्रवाल, मनीष, रविंद्र अग्रवाल, संजय गर्ग, मनोज बाल्मीकि उपस्थित थे।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *