मीडिया में गिरा अन्ना का बाजार भाव

राजनीति

अप्रैल 2011, अगस्त 2011 और अब जुलाई-अगस्त 2012। अन्ना के आंदोलन के करीब 16 महीने के उतार चढ़ाव में टेलीवीजन मीडिया ने अन्ना के आंदोलन का बाजार भाव बढ़ाया भी और गिरा भी दिया। अगस्त 2011 में जहां अन्ना की अगस्त क्रांति को मीडिया ने अपने प्राइम टाइम का 90 फीसदी कवरेज दिया था वहीं इस बार जुलाई में हुए अन्ना के अनशन को मीडिया ने अपने प्राइम टाइम का सिर्फ 19 फीसदी कवरेज दिया। दिल्ली स्थित सीएमएस मीडिया लैब द्वारा 25 जुलाई से 31 जुलाई के बीच टीम अन्ना के अनशन के मीडिया कवरेज का जो डाटा इकट्ठा किया गया है वह बताता है कि अन्ना का मीडिया में बाजार भाव गिरा है। अन्ना के आंदोलन का विश्लेषण करने के लिए सीएमएस मीडिया लैब ने चार बड़े चैनलों के प्राइम टाइम प्रसारण का सात दिनों का रिकार्ड इकट्ठा किया है। 25 जुलाई से 31 जुलाई के बीच चार चैनलों के डाटा को इकट्ठा किया गया। इसमें हिन्दी के एबीसी न्यूज और आज तक तथा अंग्रेजी के एनडीटीवी और सीएनएन-आईबीएन चैनलों की मानिटरिंग की गई । इन सात दिनों के दौरान शाम को 7 बजे से रात के 11 बजे के बीच न्यूज चैनलों ने 805 मिनट अन्ना हजारे के अनशन को दिया जो कि कुल प्राइम टाइम का 19 प्रतिशत है। हिन्दी और अंग्रेजी में हिन्दी चैनलों ने फिर भी अंग्रेजी चैनलों के मुकाबले लगभग डेढग़ुना समय अन्ना के अनशन को कवर करने के लिए दिया। हिन्दी न्यूज चैनलों (आज तक और एबीपी न्यूज) ने प्राइम टाइम के 510 मिनट अन्ना के अनशन को दिये तो अंग्रेजी चैनलों ने 295 मिनट का कवरेज दिया। सीएमएस मीडिया लैब का विश्लेषण है कि इन सात दिनों के दौरान अन्ना के अनशन की बजाय चैनलों ने ओलंपिक और ग्रिड के फेल हो जाने को ज्यादा प्रमुखता दी। ओलंपिक की शुरूआत होने के बाद अन्ना से ज्यादा ओलंपिक कवरेज को प्राइम टाइम में जगह मिली। औसत हर चैनल ने प्रतिदिन अन्ना के अनशन के मुकाबले ओलंपिक को 53 मिनट अधिक प्राइम टाइम कवरेज दिया। जबकि इन्हीं चैनलों ने पिछले साल अप्रैल और अगस्त में हुए अन्ना के अनशनों को जमकर रिपोर्ट किया था। अन्ना के अप्रैल में हुए अनशन को प्राइम टाइम का 40 प्रतिशत कवरेज मिला था जबकि अगस्त 2011 में रामलीला मैदान में हुए अन्ना की अगस्त क्रांति को टीवी चैनलों के प्राइम टाइम का 90 फीसदी कवरेज मिला था। लेकिन इस बार उसी मीडिया में अन्ना के अनशन का कवरेज घटकर 19 प्रतिशत पर आ गया।
इन चैनलों में भी इस बार आज तक ने सबसे अधिक प्राइम टाइम दिया। आज तक ने 276 मिनट, एबीपी न्यूज 234 मिनट, एनडीटीवी24&7 ने 191 मिनट और सीएनएन-आईबीएन ने 104 मिनट प्राइम टाइम अन्ना के अनशन को दिया। आश्चर्यजनक रूप से देश के सरकारी चैनल डीडी न्यूज ने इन सात दिनों में अपने प्राइम टाइम में सिर्फ 12 मिनट अन्ना के अनशन की रिपोर्टिंग की। हालांकि इस अध्ययन में 1,2 और 3 अगस्त का कवरेज शामिल नहीं है जबकि इन्हीं आखिर के तीन दिनों ने मीडिया ने अन्ना के अनशन को थोड़ा बेहतर ढंह से कवर किया था।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *