भावी शिक्षक बनने को 3627 ने दी परीक्षा

प्रमुख समाचार/संपादकीय
नोएडा, जिले में सोमवार को बीएड प्रवेश परीक्षा शांतिपूर्ण तरीके से संपन्न हुई। परीक्षा केंद्रों पर पुलिस की तैनाती के साथ हजारों परीक्षार्थी अपना भाग्य आजमाने पहुंचे। परीक्षा के लिए पंजीकृत छात्रों में से 448 छात्र परीक्षा देने नहीं पहुंचे। परीक्षा के लिए बने छह केंद्रों में कहीं से भी नकल या अन्य अप्रिय घटना का सूचना नहीं है।

परीक्षा केंद्रों पर मेले सा नजारा : डॉ. राम मनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय फैजाबाद द्वारा आयोजित बीएड प्रवेश परीक्षा के लिए नोएडा में 4075 परीक्षार्थियों के लिए छह परीक्षा केंद्र बनाए गए थे। हालांकि, केवल 3627 परीक्षार्थी केंद्र पर पहुंचे। इन सभी परीक्षा केंद्रों पर सुबह सात बजे से ही मेले से नजारा था। हाथों में पानी की बोतल और किताब लिए परीक्षार्थी पहली पाली की तैयारी में मशगूल नजर आए। सेक्टर-39 राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय, सेक्टर-62 आइएमएस, सेक्टर-20 इंडियन नेशनल पब्लिक स्कूल, सेक्टर-33 रॉकवुड स्कूल, सराय स्थित भवानी शंकर इंटर कॉलेज और ग्रेटर नोएडा में मंगलमय इंस्टीट्यूट के बाहर सुबह आठ से 11 बजे और दोपहर एक से चार बजे तक परीक्षार्थियों के साथ ही उनके परिजनों की भीड़ रही। राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय में 325, वहीं आइएमएस में 25 केंद्रों में 500 छात्रों ने परीक्षा दी। आइएमएस में शाम की पाली में एक महिला परीक्षार्थी के अस्वस्थ होने पर उसे घर भेज दिया गया। नॉलेज पार्क के मंगलमय इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी में 1500 छात्रों की परीक्षा होनी थी। करीब 160 आवेदक अनुपस्थित रहे। परीक्षा में शामिल होने के लिए बुलंदशहर, गाजियाबाद, खुर्जा, अलीगढ़ और दिल्ली के भी छात्र आए थे। वहीं कई परीक्षा केंद्रों के गेट पर परीक्षार्थियों का सामान गुम गया। आइएमएस कॉलेज के बाहर नीना का बैग एक बाइक सवार लेकर गायब हो गया। 

सवालों में उलझे कई परीक्षार्थी :ग्रेटर नोएडा के कुंदन ने बताया कि पहली पाली में हिंदी, अंग्रेजी और जनरल नॉलेज के प्रश्न अच्छे रहे। वहीं शाम की पाली में रीजनिंग और आर्ट के प्रश्नपत्र भी स्कोरिंग रहे। दोनों ही पेपर 100 नंबर और 100 प्रश्नों के थे। साइंस विषय से परीक्षा देने वाली पूजा का कहना था कि सुबह का पेपर ठीक रहा, लेकिन शाम की पाली में मेडिकल और नॉन मेडिकल दोनों मिक्स थे। 20 प्रश्न बॉयोलॉजी से थे। इससे उसे कनफ्यूजन हो गया। दिल्ली से परीक्षा देने आई प्रियंका ने बताया कि पहले पेपर में 69 और दूसरे में 63 अंक आने की उम्मीद है। नताशा को 200 नंबर आने की आस है, जबकि सुरुचि और प्रीति को 150 नंबर आने की उम्मीद है। दीपा राजपूत को दूसरा पेपर सरल लगा तो पहला पेपर उन्हें कोई खास नहीं लगा।

युवाओं में एमबीए और एमसीए से अधिक बीएड का क्रेज सिर चढ़ कर बोल रहा है। प्रदेश में बीएड की एक लाख 13 हजार 392 सीटों के लिए लगभग तीन लाख 74 हजार परीक्षार्थी मैदान में हैं। जानकार मानते हैं कि बेसिक शिक्षा विभाग के तहत शिक्षकों की भर्ती के अवसर ने पिछले कुछ वर्षो में बीएड का क्रेज बढ़ा दिया है। जिस संख्या में छात्रों ने उपस्थिति दर्ज कराई है, उससे कयास लगाया जा सकता है कि इस वर्ष भी दाखिले को लेकर होड़ मचेगी।

प्रशासन भी रहा मुस्तैद: बीएड की परीक्षा के लिए जिला प्रशासन के साथ ही पुलिस-प्रसाशन भी मुस्तैद रहा। डीएम एमकेएस सुंदरम दल-बल के साथ सुबह 9.30 बजे आइएमएस पहुंचे। उन्होंने वहां परीक्षा कक्षों और सुरक्षा का जायजा लिया। सभी परीक्षा केंद्रों के बाहर महिला पुलिस कर्मचारियों के साथ ही भारी संख्या में पुलिस बल तैनात था।

ेंद्रों के बाहर गहन चेकिंग के बाद ही परीक्षार्थियों को अंदर जाने दिया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *