जेल से गतिविधियों का संचालन

प्रमुख समाचार/संपादकीय

अंबेडकरनगर, जेल में निरुद्ध होने के बावजूद शातिर अपराधियों का सरगना दिलीप वर्मा आपराधिक गतिविधियां संचालित कर रहा है। उसके द्वारा तैयार की गई अपराधियों की पौध जिले में खौफ का पर्याय बनी है। कारण सरगना के नाम पर मांगी गई रंगदारी न देने वालों पर गोलियां बरसाई जा रही हैं। साथ ही लूट की वारदातों को भी अंजाम दिया जा रहा है। पुलिस सूत्रों के मुताबिक फैजाबाद जिले के गोसाईगंज थाना क्षेत्र के ग्राम भटपुरवा निवासी दिलीप वर्मा शातिर लुटेरा है। कई बार लूट के मामलों में जेल जाने के कारण उसने फैजाबाद, अंबेडकरनगर, आजमगढ़, बस्ती व सुल्तानपुर जिले के अपराधियों का संगठित नेटवर्क बना रखा है। साथ ही अपने गिरोह में बड़ी संख्या में नए सदस्यों को जोड़ रखा है। इस शातिर अपराधी को फैजाबाद जिले की पुलिस ने गत साल सराफा व्यवसायी की हत्या व लूट के मामले में साथियों के साथ गिरफ्तार कर जेल भेजा है। गिरफ्तारी के दौरान गिरोह के सदस्यों के कब्जे से बड़ी संख्या में मुंगेरी असलहे (बिहार की अवैध फैक्ट्रियों में निर्मित असलहे) बरामद हुए थे। पुलिस के मुताबिक लूट, हत्या व बैंक डकैती जैसी करीब दर्जनभर सनसनीखेज वारदातों को अंजाम देने वाले इस गिरोह के सरगना द्वारा असलहों की आपूर्ति भी की जाती है। इस गिरोह द्वारा मुहैया कराए जाने वाले असलहों का इस्तेमाल दोनों जिलों के अपराधी लूट व हत्या में कर रहे हैं। इतना ही नहीं जेल में रहने के बावजूद गिरोह का सरगना अपनी गतिविधियों को बेरोकटोक अंजाम दे रहा है। इसके लिए वह मोबाइल फोन व मुलाकाती साथियों का सहारा लेता है। गत दिनों अहिरौली थाना क्षेत्र के कटेहरी निवासी कबाड़ व्यवसायी रामशंकर गुप्त से दिलीप वर्मा के नाम पर रंगदारी की मांग की गई थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *